सपने देखने का अधिकार तो सबको ही होता है। हर इंसान सोने के बाद सपने देखता है, लेकिन कई बार ऐसा होता है कि उन में से कुछ सपने बुरे तो कुछ अच्छे होते हैं। कई बारे ऐसा भी होता है कि अगर हम रात में सपना देखते हैं तो सुबह उठने के बाद वो सपना हमें पूरी तरह से याद नहीं रहता है, वो भूल जाता है। जो बुरे सपने होते हैं उनकी वजह से इंसान डर जाता है और घबरा कर नींद से उठ जाता है। क्योंकि उन्हें लगया है कि जो भी उन्होंने देखा वो सपना नहीं वास्तव में हकीकत है। इसलिए को भी इंसान वैसा सपना दोबारा नहीं देखना चाहता है। क्योंकि व्यक्ति डर जाता है कि अगर सच में ऐसा कुछ हो गया तो? लेकिन क्या कोई इसके पीछे के कारण को जानता है कि आखिर क्यों लोगों को इतने डरावने सपने आते हैं? इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं इन सपनों की वजह के बारे में तो आइए जानें-

हर व्यक्ति चाहता है कि वह अच्छी नींद ले सके, लेकिन इसके लिए सोने का तरीका सही होना चाहिए। वास्तु के अनुसार सोते समय व्यक्ति के पैर उत्तर की ओर होने चाहिए तो उसे बहुत अच्छी नींद आती है। बुरे सपने आने का कारण एक और है कि अगर आपके बैडरूम में बाथरूम है तो बुरे सपने आने का कारण हो सकता है।

ऐसा मानना है कि अगर आपके बेड पर सामान बिखरा रहता है तो भी आपको बुरे सपने आते हैं। अक्सर ऐसा देखा गया है कि बहुत से लोग अपने बेड के आस-पास बहुत सारा कबाड़ रख लेते हैं। जबकि ऐसा सामान बैडरुम से बाहर रखने में ही भलाई होती है। 

अक्सर ऐसा देखने को मिलता है कि लोग अपने जूते-चप्पल अपनी बेड के नीचे रख देते हैं और जिसकी वजह से रुम में नकरात्मक ऊर्जा फैलती है। जिसका असर व्यक्ति की नींद पर पड़ता है। बुरे सपने आने का कारण तनाव लेना भी होता है। जब इंसान किसी न किसी काम की वजह से परेशान होता है तो वह दिन-रात बस उसी की चिंता में रहता है और इसी के चलते वो सारी बातें बुरे सपने का रूप ले लेती हैं।

आज के समय में हर कोई रात को सोते समय अपने फोन का इस्तेमाल करता है। लेकिन क्या आपको पता है कि व्यक्ति की यहीं आदत डरावने सपनों का कारण बनती है। इसलिए रात को सोने से पहले अपना फोन किसी अलग जगह पर रख दें। क्योंकि जो हम रात को देखते यानि टीवी या फोन में वहीं सब चीज़ें हमारे दिमाग में घूमते है और वो सपनों का आकार ले लेती हैं। 

Source : Agency