जबलपुर
नक्सल प्रभावित बालाघाट में लाल आतंक को बढ़ाने सुनियोजित तरीके से जंगल में घुसपैठ करने वाले नक्सलियों को दबोचने पुलिस अफसरों ने सुरक्षा बढ़ाकर जंगल में सर्चिंग अभियान शुरू किया है। मध्यप्रदेश की सीमा से सटे जंगल में पुलिस की 4 टीमें अलग-अलग क्षेत्र से घेराबंदी करने में जुटी हैं। पुलिस को खबर मिली है कि महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में हुए हमले के बाद नक्सली बालाघाट के जंगल में घुसने का प्रयास कर रहे हैं। 3 दर्जन से अधिक नक्सलियों के महाराष्ट्र बार्डर से बालाघाट सीमा में घुसने की आशंका से अलर्ट जारी किया गया है। पीएचक्यू सुबह-शाम सर्चिंग की अपडेट बालाघाट पुलिस से ले रहा है। 

दिलीप उर्फ गुहा व रसूल की गिरफ्तारी के बाद मध्यप्रदेश ,महाराष्ट्र व छत्तीसगढ़ में कमजोर पड़ी नक्सलियों की पकड़ को मजबूत करने नक्सली दलम पैठ बढ़ा रहे हैं। बालाघाट में घुसने के लिए नक्सलियों ने रास्ते बदल दिए हैं। इतना ही नहीं महाराष्ट्र व छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती जंगलों से बालाघाट में प्रवेश करने वाले नक्सली बिना वर्दी के घुस रहे हैं जिससे उनकी शिनाख्त करना मुश्किल हो रहा है। 

महाराष्ट्र व छग की सीमा से लगा इलाका सुरक्षा में ढील की वजह से तीन राज्यों के नक्सलियों के लिए सुरक्षा का ठौर बना हुआ है। कटेमा ,कट्टीपार, लोधीवाड़ा व मुरकुटो ये सीमावर्ती क्षेत्र ऐसे हैं,जहां कम मात्रा में बल तैनाती होने की वजह से नक्सलियों के लिए यह सुरक्षित रास्ता बना हुआ है।

सीतापाढ़ा, भावे, कटियापार, बिरीमुलम,कुट्टापार, सुंदरा सहित आसपास के क्षेत्र में शुरू हुआ पुलिस का सर्चिंग अभियान चल रहा है। 

 

Source : Agency