भोपाल/रीवा
लोकसभा चुनाव के बीच नेताओं मे बयानबाजी का दौर तेजी से चल रहा है। एक वार करता है तो दूसरा पलटवार के लिए तैयार बैठा है। अब मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बीजेपी पार्टी अध्यक्ष अमित के कुर्सी हिलने वाले बयान पर पलटवार किया है। नाथ ने कहा है कि जनता ने जिनकी कुर्सी के सारे पाये उखाड़कर ज़मीन पर ला दिया वो कांग्रेस की कुर्सी की चिंता ना करे।

दरअसल, शनिवार को पार्टी अध्यक्ष अमित शाह रीवा के गोविंदगढ़ में पार्टी प्रत्याशी जनार्दन मिश्रा के समर्थन में प्रचार के लिए पहुंचे थे। जहां उन्होंने कमलनाथ सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि 23 मई को मतगणना के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ की कुर्सी के चारों पाये हिलने वाले हैं। जिसको लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पलटवार किया है। नाथ ने ट्वीट कर लिखा है कि जनता ने जिनकी कुर्सी के सारे पाये उखाड़कर ज़मीन पर ला दिया है,वो सपने देखना छोड़कर ,कांग्रेस की कुर्सी के पायो  की चिंता ना करे,चारों पाये  बेहद मज़बूत है,हिलने-डुलने वाले नहीं है। जनता ने इन्हें प्रदेश में ज़मीन पर लाया है , अब देश की बारी है।

इस दौरान शाह ने कहा ने यह भी कहा था कि कान खोल कर सुन लो कमलनाथ। अगर आप चाहते हो, आप मानते हो कि इस प्रताड़ना से भाजपा के कार्यकर्ता दब जाएंगें, डर जाएंगे, तो मैं आपको कहने आया हूं, भाजपा के अध्यक्ष के नाते...ये भाजपा के कार्यकर्ता हैं, अगर हमारे कार्यकर्ता को प्रताड़ित करने का प्रयास किया तो तेरी सरकार की ईंट से ईंट बजाने का काम ये भाजपा की सरकार करेगी।शाह ने आगे कहा था कि क्या समझते हो, आप। लोकतंत्र के अंदर भाजपा के कार्यकताओं को दबाकर आप चुनाव जीतेंगे? 23 मई को मतगणना होने दो, आपकी कुर्सी के चारों के चारों स्तम्भ हिलने वाले हैं। चारों के चारों। और कमलनाथ याद रखना, मैं आज बताने आया हूं।

Source : Agency