नयी दिल्ली
गौरव सोलंकी और मनीष कौशिक ने स्वर्ण पदक जीते जिससे भारतीय मुक्केबाज पोलैंड के वारसा में 26वें फेलिक्स स्टेम अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी टूर्नामेंट में छह पदक जीतने में सफल रहे। भारतीय मुक्केबाजों ने दो स्वर्ण के अलावा एक रजत और तीन कांस्य पदक के साथ टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन किया। बाइस साल के सोलंकी (523 किग्रा) ने इंग्लैंड के विलियम काउले को 5-0 से हराकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। उन्होंने एक बार फिर उस फार्म में झलक पेश की जिससे वह पिछले साल राष्ट्रमंडल खेलों और कैमिस्ट्री कप में स्वर्ण पदक जीतने में सफल रहे थे। पिछले साल इंडिया ओपन में स्वर्ण और राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीतने वाले 23 साल के कौशिक (60 किग्रा) को भी अधिक परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा। उन्होंने मोरक्को के मोहम्मद हमोत को 4-1 से हराया।

बैंटमवेट विशेषज्ञ मोहम्मद हसमुद्दीन (56 किग्रा) को हालांकि एक बार फिर रजत पदक के साथ संतोष करना पड़ा। वह फाइनल में रूस के मुखमाद शेखोव को कड़ी टक्कर देने के बावजूद 1-4 से हार गए। भारत के तीन अन्य मुक्केबाजों को सेमीफाइनल में हार के काण कांस्य पदक मिले। मनदीप जांगड़ा को 69 किग्रा में रूस के वादिम मुसाइव के खिलाफ 0-5 जबकि संजीत को 91 किग्रा वर्ग में न्यूजीलैंड के डेविड नाइका के खिलाफ इसी अंतर से हार का सामना करना पड़ा। अंकित खटाना को 64 किग्रा वर्ग में कड़ी चुनौती पेश करने के बावजूद सेमीफाइनल में पोलैंड के डेमियन दुर्काज के खिलाफ 2-3 से हार झेलनी पड़ी।
 

Source : Agency