बेंगलुरू
भारतीय हाकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह का मानना है कि अगले महीने होने वाले एफआईएच हाकी सीरिज फाइनल से पहले आस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम से खेलकर उनकी टीम का आत्मविश्वास बढेगा । भारतीय टीम पांच मैचों की श्रृंखला के लिये आस्ट्रेलिया रवाना हुई । यह दौरा भुवनेश्वर में अगले महीने होने वाले हाकी सीरिज फाइनल के लिये अहम माना जा रहा है जो नये कोच ग्राहम रीड के साथ टीम का पहला टूर्नामेंट होगा । भारतीय टीम आस्ट्रेलियाई राष्ट्रीय टीम के खिलाफ दो, आस्ट्रेलिया ए के खिलाफ दो और वेस्टर्न आस्ट्रेलिया थंडरस्टिक्स क्लब के खिलाफ एक मैच खेलेगी । 

मनप्रीत ने कहा कि आस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम के खिलाफ खेलकर हमारा आत्मविश्वास बढेगा । मार्च में मलेशिया में हमने अच्छा प्रदर्शन किया और कुछ युवा वहां चमके थे । उन्होंने कहा कि जसकरण सिंह अंतरराष्ट्रीय हाकी में पदार्पण करेंगे जबकि गुरसाहिबजीत सिंह का यह दूसरा टूर्नामेंट होगा। अरमान कुरैशी लंबे समय बाद टीम में लौटे हैं । मुझे यकीन है कि ये खिलाड़ी अपेक्षाओं पर खरे उतरेंगे । दुनिया की दूसरे नंबर की टीम के खिलाफ खेलकर उन्हें काफी कुछ सीखने को मिलेगा। भारत ने सत्र की शुरुआत इपोह में सुल्तान अजलन शाह कप में रजत पदक के साथ की थी । नये कोच की सोच के बारे में पूछने पर मनप्रीत ने कहा कि वह व्यक्तिगत प्रदर्शन की बजाय टीम प्रदर्शन को महत्व देते हैं । उन्होंने कहा कि नये कोच हमें बार बार कहते हैं कि उनके लिये व्यक्तिगत कौशल के धनी खिलाड़ी से ज्यादा टीम के लिये खेलने वाला खिलाड़ी अहम है।
 

Source : Agency