भोपाल 
विक्रम विवि उज्जैन के ज्योर्तिविज्ञान विभाग के प्रोफेसर डॉ. राजेश्वर शास्त्री मुसलगांवकर को निलंबित कर दिया है। उन्हें आचार संहिता का उल्लंघन करने पर निलंबित किया गया है। प्रो. मुसलगांवकर ने 28 अप्रैल को अपनी फेसबुक एकाउंट पर भारतीय जनता पार्टी 300 के पास और एनडीए 300 पर लिखकर पोस्ट किया था। जबकि 12 और मई को लोकसभा चुनाव की वोटिंग होने केबाद 23 मई को काउंटिंग होना शेष है। इसके पहले ही प्रो. मुसलगांकर ने रिजल्ट की घोषणा कर दी। इसकी शिकायत कलेक्टर शशांक शेखर से की गई। 

उज्जैन संभागायुक्त ने उच्च शिक्षा विभाग को आचार संहिता का उल्लंघन करने के आरोप पर उनके खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश दिए थे। विभाने कुलपति बालकृष्णा शर्मा को आदेशित किया। इसके चलते प्रभारी रजिस्ट्रार डीके बग्गा ने उन्हें निलंबित करने के आदेश जारी कर दिए हैं। उनका अटैचमेंट फिजिक्स विभाग में किया गया है। इसके पहले भी प्रो. मुसलगांवकर ने विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा पार्टी की सरकार बनने की घोषणा की थी, लेकिन उनकी कही हुई बात कांग्र्रेस सरकार बनने के बाद झूठी साबित हो गई है। इसके बाद भी वे एनडीए की सरकार बनाने की घोषणा कर रहे हैं। 

उत्तम को किया था बर्खास्त 
विधानसभा चुनाव के दौरान समाजशास्त्र विभाग के अतिथि विद्वान उत्तम मीणा ने विक्रम विवि के कैंपस में एबीवीपी के पर्चे दिवालों पर चिपकाए थे। उनके द्वारा भी आचार संहिता का उल्लंघन किया गया। इसके चलते अतिथि विद्वान को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा। 

उच्च शिक्षा विभाग के आदेश के पारिपालन में प्रो. मुसलगांवकर को निलंबित किया गया है। 
बालकृष्ण शर्मा, कुलपति, विक्रम विवि उज्जैन

Source : Agency