शंघाई
भारतीय तीरंदाजों का रिकर्व और कंपाउंड दोनों वर्ग की व्यक्तिगत और टीम स्पर्धाओं में प्रदर्शन निराशाजनक रहा जब गुरुवार को कोई भी भारतीय पदक दौर में जगह नहीं बना पाया। जगदीश चौधरी, चमन ंिसह और सुखचैन ंिसह की भारतीय पुरुष रिकर्व टीम को बांग्लादेश की कम रैंंिकग वाली टीम के खिलाफ 1-5 से हार का सामना करना पड़ा। दोनों टीमों ने पहले सेट में 54 अंक के साथ शुरुआत की लेकिन दूसरे और तीसरे सेट में भारतीय तीरंदाजों के निशाने चूक गए जिससे टीम क्वार्टर फाइनल मुकाबला हार गई। परवीना, मोनाली जाधव और प्रिया गुर्जर की कंपाउंड महिला टीम को भी चीनी ताइपे के खिलाफ 219-231 से हार झेलनी पड़ी। रिकर्व महिला टीम भी दूसरे दौर में अमेरिका के खिलाफ 2-6 से हार गई।

चौथी वरीय पुरुष कंपाउंड टीम तो पहले दौर की बाधा भी पार नहीं कर पाई और 13वीं वरीय न्यूजीलैंड की टीम के हाथों 220-223 से हार गई। भारत को अब रिकर्व और कंपाउंड दोनों वर्ग की मिश्रित पेयर स्पर्धाओं से उम्मीद है। व्यक्तिगत वर्ग में भी भारतीय तीरंदाजों का प्रदर्शन खराब रहा और कोई भी भारतीय पदक दौर में जगह नहीं बना पाया। वल्किराज ंिडडोर को पुरुष रिकर्व प्री क्वार्टर फाइनल में चीनी ताइपे के वेई चुन हेंग के खिलाफ 3-7 से शिकस्त का सामना करना पड़ा। अंकिता को प्री क्वार्टर फाइनल में चीन की सातवीं वरीय मेंग फान्शु के खिलाफ शूट आउट में शिकस्त झेलनी पड़ी। मेंग ने शूटआउट में परफेक्ट 10 के साथ अंकिता को पछाड़ा। प्रीति को तीसरे दौर में ब्रिटेन की नाओमी फोल्कार्ड के खिलाफ 4-6 से हार का सामना करना पड़ा। पुरुष कंपाउंड व्यक्तिगत वर्ग में गुरंिवदर ंिसह को तीसरे दौर में आस्ट्रेलिया के 51 साल के डेनी ओस्तुजेन ने 149-146 से हराया। मोनाली को महिला वर्ग में अमेरिका की एलेक्सिस रुइस ने 144-140 से शिकस्त दी।
 

Source : Agency