वॉशिंगटन 
अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने चीन से होने वाले आयात में से उन सभी चीजों पर टैक्स की वसूली बढ़ाने का फैसला लिया है, जो अब तक इससे बची हुई थीं। महज 24 घंटों के भीतर ही अमेरिका ने यह फैसला लिया है, जबकि उसने चीन से होने वाले 200 अरब डॉलर के आयात पर पहले ही टैरिफ बढ़ाया था। अमेरिका व्यापार प्रतिनिधि रॉबर्ट लाइथिजर ने एक बयान में कहा, 'प्रेजिडेंट ने हमें चीन के उन प्रॉडक्ट्स पर भी इंपोर्ट टैरिफ बढ़ाने का आदेश दिया है, जो अब तक इस दायरे से बाहर थीं। इस तरह अब चीन से करीब 300 बिलियन डॉलर तक के आयात पर टैरिफ बढ़ जाएगा।' 
 
अमेरिकी प्रशासन की ओर से यह फैसला चीन के साथ व्यापारिक चर्चा के किसी हल तक न पहुंचने के बाद लिया गया है। दोनों ही देशों ने बातचीत के दौरान यह कोशिश की संबंध और न बिगड़ें और स्थिति को सुधारने की कोशिश की जाए, लेकिन अंतत: कोई नतीजा नहीं निकल सका। इसके बाद ही डॉनल्ड ट्रंप ने इस बात के संकेत दिए थे कि चीन से हर तरह के आयात पर अमेरिका टैरिफ बढ़ाने जा रहा है। 

इससे पहले अमेरिका ने चीन से होने वाले 200 बिलियन डॉलर तक के आयात पर 10 से 25 फीसदी टैरिफ बढ़ाने का फैसला लिया था। हालांकि चीन से आयात पर टैरिफ और बढ़ाने के फैसले से पहले ट्रंप ने स्थिति में किसी तरह के सुधार के संकेत दिए थे। उन्होंने एक ट्वीट में कहा था, 'बीते दो दिनों में अमेरिका और चीन में दोनों देशों के बीच व्यापारिक संबंधों को लेकर रचनात्मक वार्ता हुई है।' यही नहीं उन्होंने कहा था कि मेरे और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच संबंध बेहतर बने रहेंगे और भविष्य में भी चर्चा जारी रहेगी। 

Source : Agency