रतलाम
 सातवें और अंतिम चरण में आठ लोकसभा क्षेत्रों में मतदान होने है। देवास, उज्जैन, इंदौर, धार, मंदसौर, रतलाम, खरगोन और खंडवा में 19 मई को मतदान होगा। उससे पहले स्टार प्रचारकों का चुनावी दौरा जारी है। सियासत और मौसम दोनों का मिजाज़ गर्म है। कांग्रेस उम्मीवार बाबू लाल मालवीय के लिए नवजोत सिंह सिद्धू की शनिवार सुबह एक सभा थी। उससे पहले ही भाजपा नेता सभा स्थल पर काले झंडे लेकर पहुंच गए और कांग्रेसियों से इस दौरान उनकी झड़प हो गई।

दरअसल, कांग्रेस के स्टार प्रचारक सिद्धु एक सभा के लिए आलोट पहुंचे थे। उनकी सभा से पहले भाजपा मंडल अध्यक्ष दिनेश कोठारी, जनपद अध्यक्ष कालू सिंह परिहार अपने साथियों के साथ सभा स्थल पर काले झंडे लेकर पहुंच गए। भाजपा नेताओं के सभा स्थल पर पहुंचने से माहौल गर्म हो गया और कांग्रेसी कार्यकर्ता उनके खिलाफ खड़े हो गए। मामला इतना बढ़ा कि दोनों पक्षों की ओर से एक दूसरे के खिलाफ नारेबाज़ी शुरू हो गई। मामला नारेबाज़ी तक ही सीमीत नहीं रहा, दोनों ओर से पत्थरबाज़ी भी जमकर हुई। इस दौरान कांग्रेसी नेताओं ने भाजपा  मंडल अध्यक्ष दिनेश कोठारी को जमकर धून दिया।
                                                      

जैसे-तैसे पुलिस ने उन्हें कांग्रेसी कार्यकर्ताओं से छुड़ाया। इतना ही नहीं गुस्साए कांग्रेसियों ने जनपद अध्य़क्ष कालू सिंह परिहार को भी पीटा और उनके घर पर जमकर पत्थर बरसाए। खुद कांग्रेस विधायक मनोज चावला भी पत्थर बरसाते नजर आए। सभा से पहले हुए इस घटनाक्रम से शहर में अफरा तफरी हो मच गई। देखते देखते इलाके की सभी दुकानों के शटर गिर गए। लोगों ने दुकानें बंद करदी। दोनों ओर से हो रही पत्थरबाज़ी को रोकने के लिए कांग्रेस विधायक मनोज चावला कार्यकर्ताओं को समझाने पहुंचे। भाजपा नेताओं का कहना है कि विधायक ने स्वयं पत्थरबाजी की है उनका एक वीडियो वायरल हुआ है। पुलिस ने इस मामले में जनपद अध्यक्ष कालू सिंह परिहार और भाजपा मंडल अध्यक्ष दिनेश कोठारी, कुशाल सिंह परिहार, अमन मादलिया को गिरफ्तार कर लिया है। विवाद के बाद सिद्धू इस सभा में शामिल होने नहीं पहुंचे।

Source : Agency