कोरबा
छत्तीसगढ़ के कोरबा में जिला प्रशासन और शिक्षा विभाग की कवायद के बावजूद एक स्कूली छात्र परीक्षा में फेल होने पर निराश होकर मौत को गले लगा लिया. दरअसल, कोरबा के रामपुर चौकी क्षेत्र के रामपुर बस्ती निवासी 17 वर्षीय अर्जुन बरेठ कक्षा 10वीं का छात्र था. वह 10वीं की बोर्ड परीक्षा में दूसरी बार फेल हो गया था. बोर्ड परीक्षा का परिणाम आने से पहले हर स्‍तर पर छात्रों का मनोबल बढ़ाने का प्रयास किया गया था. इसके लिए हेल्‍पलाइन से लेकर अन्‍य सुविधाएं उपलब्‍ध कराई गई थीं. इसके बावजूद छात्र ने फेल होने से निराश होकर जान दे दी.

फांसी लगाने से पहले मृतक अर्जुन ने सोशल मीडिया साइट फेसबुक के स्टेटस में लिखा था, 'आई मिस यू ऑल फ्रेंड्स, मिस करूंगा सब को, लव यू मम्मी एंड पापा एंड मेरे भाई करण.' परिजनों ने तत्‍काल इसकी सूचना पुलिस को दी. घटना की जानकारी लगते ही रामपुर पुलिस मौके पर पहुंच कर शव का पंचनामा कारवाकर पोस्‍टमॉर्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया. 10 मई को सीजी बोर्ड ने परीक्षा परिणाम घोषित किए थे.

शिक्षा विभाग बच्चों के मन में निरशा ना घर करे, इसको लेकर एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया था. बावजूद इसके अर्जुन द्वारा उठाए गए आत्मघाती कदम ने सवाल खड़े कर रही है. परिजन मीडिया के सामने कुछ भी कहने से बच रहे हैं. जांच अधिकारी जगदीश टोप्पो का कहना है कि पुलिस मौत के कारणों का पता लगाने परिजनों से पूछताछ कर रही है.

Source : Agency