प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को इंदौर में एक जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने इंदौर से आठ बार सांसद रहींं लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन की जमकर तारीफ की. वैसे तो इस बार इंदौर से बीजेपी ने शंकर लालवानी को टिकट दिया है, लेकिन अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने सुमित्रा महाजन का करीब 10 बार नाम लिया.

सबसे दिलचस्प बात यह रही कि पीएम मोदी ने जाते समय सुमित्रा महाजन से कहा- ताई बहुत भूख लगी है, भोजन लाई हो तो गाड़ी में खा लूंगा. इस पर सुमित्रा महाजन ने जवाब दिया कि सुरक्षा कारणों से नहीं ला पाई. हालांकि, बताया जा रहा है कि उन्होंने अपने बेटे मंदार महाजन को फोन कर खाना मंगवाया और एयरपोर्ट पर प्रधानमंत्री के स्टाफ को सौंपा.

'सुमित्रा ताई का शहर है इंदौर'
इंदौर के दशहरा ग्राउंड में आयोजित पीएम मोदी की जनसभा में लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष राकेश सिंह और इंदौर से बीजेपी प्रत्याशी शंकर लालवानी समेत कई बड़े बीजेपी नेता मौजूद रहे. पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि ये (इंदौर) सुमित्रा ताई का शहर है, जिन्होंने 8 बार की सांसद और लोकसभा अध्यक्ष के रूप में अमिट छाप छोड़ी है.

'ताई मुझे डांट भी सकती हैं'
पीएम मोदी ने यह भी कहा कि हमारी पार्टी में कोई प्रधानमंत्री मोदी को डांट सकता है तो वह ताई हैं. पीएम मोदी ने सुमित्रा महाजन के काम की तारीफ भी की. उन्होंने कहा, 'मुझे ताई के साथ संगठन में काम करने का मौका मिला. मैं इंदौर को यह विश्वास दिलाता हूं कि शहर के विकास में ताई जी की कोई भी इच्छा अधूरी नहीं रहेगी.'

बता दें कि सुमित्रा महाजन यहां से लगातार आठ बार से सांसद हैं. इस बार के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने इंदौर से प्रत्याशी तय करने में देरी की तो सुमित्रा महाजन ने खुला खत लिखकर चुनाव न लड़ने का ऐलान कर दिया था. इसके बाद बीजेपी ने इंदौर के स्थानीय नेता और सुमित्रा महाजन के ही खास माने जाने वाले शंकर लालवानी को टिकट दे दिया.

Source : Agency