रतलाम
दिग्विजय सिंह के वोट ना डालने का मसला अब इतना तूल पकड़ चुका है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इसको लेकर रतलाम में भरी सभा में कांग्रेस नेता पर सीधा हमला बोला. पीएम मोदी ने यहां भी सैम पित्रोदा का नाम लिए बिना कांग्रेस पर तंज कसा.

दिग्विजय सिंह का नाम राघोगढ़ की वोटर लिस्ट में है. वह भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी भी हैं. ऐसे में चुनाव में व्यस्त होने के कारण दिग्विजय सिंह वोट डालने के लिए राघोगढ़ नहीं जा सके थे. पीएम मोदी ने रतलाम में एक चुनावी जनसभा में कहा, 'मैं खुद वोट डालने के लिए अहमदाबाद गया था. देश के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए लाइन में लगे थे, लेकिन दिग्गी राजा को न लोकतंत्र की चिंता थी और न ही मतदाता की जिम्मेदारी की फिक्र. इनका अहंकार कल हमने भोपाल में देखा.'

पीएम मोदी ने कहा, 'कांग्रेस के महामिलावटी लोगों और हिंदुस्तान के सब नेताओं को देश का फर्स्ट टाइम वोटर बारीकी से देख रहा है. वे युवा साथी जो देश के विकास के लिए वोट डालने निकल रहे हैं, उसे आप 'मतदान करना जरूरी नहीं है' ये सिखा रहे हैं. दिग्गी राजा आपने मतदान न करके बहुत बड़ पाप किया है.'

झाबुआ-रतलाम के आदिवासी बहुल सीट होने के कारण पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने आदिवासियों का ध्यान नहीं रखा. उनके चश्मे में आदिवासी आते ही नहीं थे. अटल जी की सरकार ने देश में पहली बार आदिवासियों के विकास के लिए अलग मंत्रालय बनाया था. देश में पानी से जुड़ी चुनौतियों को दूर करने के लिए अब हमने जलशक्ति मंत्रालय बनाने का निर्णय लिया है. हमारे व्यापारी भाइयों के हितों को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय व्यापारी बोर्ड का गठन किया जाएगा.

Source : Agency