रायपुर
कक्षा बारहवीं के परीक्षा परिणाम घोषित होने के बाद यदि आप उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए छत्तीसगढ़ में कॉलेजों का विकल्प तलाश रहे हैं तो ये खबर आपके लिए ही है. छत्तीसगढ़ के उच्च शिक्षा विभाग इस साल दाखिले की प्रक्रिया 1 से 30 जून तक करेगा.  इस बार अकादमिक कैलेंडर में थोड़ा बदलाव किया गया है. पहले 16 जून से 31 जुलाई तक दाखिले की प्रक्रिया होती थी.

एक जून से ऑनलाइन दाखिले की प्रक्रिया होनी है. इसको लेकर विश्वविद्यालय स्तर पर भी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. उच्च शिक्षा की वेबसाइट पर स्टूडेंट्स लाइफ साइकिल मैनेजमेंट सिस्टम पर विद्यार्थियों के लिए जानकारी उपलब्ध रहेगी. पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय ने प्रॉसपेक्टेश ऑनलाइन कर दिया है. हालांकि इसकी हार्ड कॉपी अब तक नहीं छपी है. विश्वविद्यालय के उपकुलसचिव रवीश दास ने मीडिया को बताया कि बताया कि 5 जून से प्रास्प्रेक्टस की हार्ड कॉपी भी उपलब्ध हो सकेगी.

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में शहर व आसपास के इलाकों में करीब 24 कॉलेज हैं. इनमें सिर्फ पांच सरकारी कॉलेज हैं. फीस कम होने की वजह से छात्र-छात्राओं के लिए यहां दाखिले के लिए मारामारी रहती है, लेकिन कॉलेज इतने कम हैं कि परेशानी उठानी पड़ सकती है. 12वीं पास आउट बच्चों की संख्या रायपुर में करीब 35 हजार है, लेकिन सरकारी कॉलेजों में प्रथम वर्ष में दाखिले के लिए सीटें करीब साढ़े तीन हजार ही हैं.

शहर में सामान्य पढ़ाई करने के लिए सरकारी जे योगानंदम छत्तीसगढ़ कॉलेज है. यहां साइंस, मैथ्स और आर्ट्स की पढ़ाई होती है. इसके बाद विज्ञान के लिए साइंस कॉलेज है. नवीन कन्या कॉलेज और डिग्री गर्ल्स कॉलेज लड़कियों के लिए हैं. पांचवां कॉलेज संस्कृत कॉलेज है. ऐसे में विद्यार्थियों को प्राइवेट कॉलेजों पर भी निर्भर रहना पड़ेगा.

एक अनुमान के मुताबिक शहर के सरकारी कॉलेजों में 60 प्रतिशत से ऊपर कटऑफ जाता है, इसलिए विद्यार्थियों को प्रवेश के लिए अधिक मशक्कत करनी पड़ती है. रायपुर के साइंस कॉलेज में प्रथम वर्ष बीएससी (विभिन्न वर्ग) 824, बीसीए 30, डीसीए 30 और पीजीडीसीए में 30 सीटें हैं. महंत लक्ष्मीनारायण दास कॉलेज में बी.कॉम 550, बीए 300, बीसीए 30, बीबीए 40, पीजीडीसीए 60, पीजीडीजे में 80 सीटें हैं. दुर्गा कॉलेज में बीकॉम 800, बीए 400,पीजीडीसीए 30,बीबीए 30,बीसीए 30,डीसीए 40, डीबीएम में 40 सीटें हैं.

इसके अलावा डीबी गर्ल्स पीजी कॉलेज में बीए 400, बीएससी (मैथ्स) 100, बीएससी (कंप्यूटर साइंस) 50, बीएससी (बायोटेक्नालॉजी) 30, बीएससी होम साइंस 80, बीएससी (होम साइंस फैशन डिजाइनिंग) 80, बी.कॉम 150, अन्य रोजगारोन्मुखी पाठ्यक्रम में 200 सीटें हैं. पीजी डागा गर्ल्स कॉलेज में बीए 400, बी.कॉम 400, बी.कॉम कंप्यूटर 40, बीएससी कंप्यूटर 40, बीएससी 400, बीसीए 20, डीसीए में 30 सीटें हैं. गुरुकुल गर्ल्स कॉलेज में बी.कॉम 100, बी.कॉम कंप्यूटर 100, बीएससी (कंप्यूटर साइंस) 50, बीएससी (जूलॉजी, बॉटनी, केमिस्ट्री), 50, बीएससी (मैथ्स) 50, पीजीडीसीए 60, बीसीए 30, डीसीए में 60 सीटें हैं.

Source : Agency