दुबई

भारत की जीएस लक्ष्मी आईसीसी मैच रेफरी के अंतरराष्ट्रीय पैनल में शामिल होने वाली पहली महिला बन गई हैं और वह तुरंत प्रभाव से अंतरराष्ट्रीय मैचों में अपनी सेवाएं दे सकती हैं. इस महीने के शुरू में क्लेरी पोलोसाक पुरुषों के वनडे अंतरराष्ट्रीय मैच में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला बनी थीं.

घरेलू महिला क्रिकेट में 2008-09 से मैच रेफरी की भूमिका निभा रही 51 साल की लक्ष्मी अब तक महिलाओं के तीन वनडे और तीन टी-20 अंतरराष्ट्रीय में मैच रेफरी रह चुकी हैं.

आईसीसी के बयान के अनुसार लक्ष्मी ने कहा, ‘आईसीसी के अंतरराष्ट्रीय पैनल में चुना जाना मेरे लिए बहुत बड़ा सम्मान है क्योंकि इससे मेरे लिए नए दरवाजे खुलेंगे. भारत में एक क्रिकेटर और मैच रेफरी के रूप में मेरा लंबा करियर रहा है. उम्मीद है कि मैं एक खिलाड़ी और मैच अधिकारी के रूप में अपने अनुभव का अंतरराष्ट्रीय सर्किट पर अच्छा उपयोग करूंगी.’

ऑस्ट्रेलिया की इलोइस शेरिडन आईसीसी के अंपायरों के ‘डेवलपमेंट पैनल’ में हमवतन पोलोसाक के साथ जुड़ेंगी. इस तरह से इस पैनल में महिलाओं की संख्या सात हो गई है.

लॉरेन एगेनबाग, किम कॉटन, शिवानी मिश्रा, सू रेडफर्न, मैरी वाल्ड्रान और जैकलिन विलियम्स इस पैनल में शामिल अन्य महिला अधिकारी हैं. इस पैनल में शामिल होने वाली पहली महिला अंपायर कैथी क्रॉस थीं, जिन्होंने पिछले साल संन्यास ले लिया था.

आईसीसी के अंपायरों और रेफरी विभाग के सीनियर मैनेजर एड्रियन ग्रिफिथ ने कहा, ‘हम लक्ष्मी और इलोइस का अपने पैनल में स्वागत करते हैं जो कि महिला अधिकारियों को बढ़ावा देने की हमारी प्रतिबद्धता की तरफ बढ़ाया गया महत्वपूर्ण कदम है. उनकी प्रगति देखकर अच्छा लगता है और मुझे पूरा विश्वास है कि अधिक से अधिक महिलाएं उनका अनुसरण करेंगी.’

Source : Agency