नई दिल्ली 
इंग्लैंड एंड वेल्स में होने वाले वर्ल्ड कप को फिक्सिंग और भ्रष्टाचार जैसी बुराइयों से दूर रखने के लिए इंटरनैशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने फैसला किया है कि क्रिकेट के महापर्व में हिस्सा लेने वाली प्रत्येक टीम के लिए अलग से एक अधिकारी नियुक्त कियाए जाएगा जो भ्रष्टारचार संबंधी गतिविधियों पर नजर रखेगा। एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, आईसीसी हर टीम के साथ भ्रष्टाचार रोधी अधिकारी नियुक्त करेगी। ऐसा पहली बार होगा कि हर टीम को अलग से भ्रष्टाचार रोधी अधिकारी दिया जाएगा। रिपोर्ट के मुताबिक, ‘इससे पहले आईसीसी की भ्रष्टाचार रोधी इकाई (एसीयू) खुद मैच स्थल पर मौजूद रहती थी। इसके कारण टीम को कई अधिकारियों से रुबरू होना पड़ता था। अब एक अधिकारी टीम के साथ रहेगा जो अभ्यास मैच से टूर्नमेंट के खत्म होने तक टीम के साथ रहेगा। वह टीम के साथ उसी होटल में रूकेगा जिसमें टीम रुकी है। साथ ही हर जगह टीम के साथ सफर करेगा और अभ्यास सत्र में भी टीम के साथ रहेगा।’ 

टीम के साथ रहने से अधिकारी किसी भी संदिग्ध स्थिति को भांपने की ज्यादा अच्छी स्थिति में होगा क्योंकि वह टीम के साथ और बैक-रूम स्टाफ के करीब रहेगा। यह कदम एसीयू की खेल को फिक्सिंग जैसी बुराई से दूर रखने के लिए अपनी गई रणनीति का हिस्सा है। वर्ल्ड कप का आयोजन 30 मई से इंग्लैंड एवं वेल्स की संयुक्त मेजबानी में होगा। 
 

Source : Agency