भोपाल
 माध्यमिक शिक्षा मंडल (mpbse) के रिजल्ट 15 मई को सुबह 11 बजे जारी होने जा रहा है। मुख्य सचिव एसआर मोहंती दोनों रिजल्ट को बुधवार सुबह 11 बजे जारी करेंगे। रिजल्ट को पत्रिका की वेबसाइट results .patrika.com पर तुरंत देखा जा सकता है। इसके अलावा इसे अपने स्मार्ट फोन पर भी देखा जा सकता है।


मध्यप्रदेश बोर्ड ने 10वीं और 12वीं के रिजल्ट जारी करने की पूरी तैयारी कर ली है। यह रिजल्ट 15 मई को सुबह 11 बजे जारी कर दिया जाएगा। भोपाल के मॉडल स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य सचिव एसआर मोहंती बोर्ड इसे जारी करेंगे। आचार संहिता लगने के कारण इस रिजल्ट के दौरान कोई राजनेता शामिल नहीं हो पाएगा।

नहीं हो पाएगा इस बार सम्मान
इस बार आचार संहिता के चलते प्रदेश के टॉपर बच्चों का सम्मान नहीं किया जा रहा है। इससे पहले टापर्स बच्चों को भोपाल बुलाया जाता था और समारोह पूर्वक उन्हें सम्मानित किया जाता था। इसके अलावा जिला स्तर पर भी बच्चों को सम्मानित करने की भी कोई योजना नहीं है।

स्कूल शिक्षा विभाग के पास नहीं है जानकारी
मेधावी बच्चों के सममान को लेकर एमपी बोर्ड और शिक्षा विभाग के अधिकारियों में से कोई जिम्मेदारी लेने को तैयार नहीं है। बोर्ड के अधिकारियों ने बताया कि एमपी बोर्ड वर्षों से रिजल्ट जारी करते समय किसी छात्र को नहीं बुलाता था, पिछले कुछ सालों से यह व्यवस्था की गई, लेकिन यह काम बोर्ड के दायरे में नहीं आता। बोर्ड के पास किसी छात्र का नंबर भी नहीं होता वैसे भी उसका काम केवल रिजल्ट जारी करना है। उधर, स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी का कहना है कि चूंकि रिजल्ट गोपनीय होता है, जिसकी जानकारी विभाग को नहीं होती, बोर्ड जिन छात्रों के नाम बताता था उन्हें बुला लिया जाता था। ऐसी कोई जानकारी इस बार नहीं आई है, इसलिए बुलाने का सवाल ही नहीं उठता है।

सम्मान होना चाहिए
राज्य अध्यापक संघ के प्रांताध्यक्ष जगदीश यादव कहते हैं कि प्रदेश में प्रतिभा का सम्मान होता रहा है। सम्मान से ग्रामीण अंचल से आने वाले विद्यार्थियों और अध्यापक दोनों का प्रोत्साहन मिलता है। प्रदेश में टॉप करने वाले छात्रों का सम्मान किया ही जाना चाहिए। ऐसा नहीं करके अधिकारी गलत कर रहे हैं।


एक नजर
मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (MPBSE) द्वारा 10वीं की परीक्षा में 18,66,639 परीक्षार्थी सम्मिलित हुए थे। इनमें 7,32,319 छात्र 12वीं कक्षा के और 11,32,319 छात्र 10वीं कक्षा के थे। मध्‍य प्रदेश बोर्ड की परीक्षा 3,864 केंद्रो पर आयोजित की गई थी। मध्‍य प्रदेश बोर्ड 12वीं की परीक्षाएं 3 मार्च से शुरू हुई थीं और 2 अप्रैल को खत्‍म हुई थीं। वहीं 10वीं की परीक्षाएं 1 मार्च से शुरू होकर 27 मार्च तक चली थीं। हालांकि बोर्ड ने रिजल्ट की तारीखों को लेकर कोई सूचना जारी नहीं की है।

 

Source : Agency