नई दिल्ली/कोलकाता 

लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के मतदान से पहले पश्चिम बंगाल की सियासत गरमा गई है। मंगलवार को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में पत्थरबाजी और झड़प का मामला देर शाम चुनाव आयोग पहुंच गया। बीजेपी ने आयोग से मांग की है कि तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों को कथिततौर पर भड़काने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को प्रचार से रोका जाए। उधर, ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बीजेपी को घेरा है। देर शाम विद्यासागर कॉलेज पहुंचकर उन्होंने घटना की जानकारी ली। इसी के पास में शाह के रोड शो में झड़प हुई थी।  
 
ममता का बीजेपी पर अटैक 
कॉलेज में CM ममता बनर्जी ने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। उन्होंने कहा, 'बीजेपी हताश हो चुकी है। वे हमारी महान विभूतियों का भी सम्मान नहीं करते हैं। वे विद्यासागर की प्रतिमा को कैसे तोड़ सकते हैं? हम इसके खिलाफ एक विरोध रैली करेंगे।' बीजेपी पर हमला करते हुए CM ने आरोप लगाया कि वह (बीजेपी) बंगाल के बाहर से गुंडों को ला रही है। इससे पहले शाम में एक रैली में उन्होंने कहा कि बीजेपी के खिलाफ हर एक वोट विद्यासागर की प्रतिमा पर हमले का बदला होगा। 

बीजेपी ने EC से की यह मांग 
उधर, दिल्ली में चुनाव आयोग के अधिकारियों से बीजेपी के वरिष्ठ अधिकारियों का एक प्रतिनिधिमंडल देर शाम मिला। बाद में मुख्तार अब्बास नकवी ने पत्रकारों को बताया, 'हमने आयोग से मांग की है कि अराजक तत्वों और हिस्ट्रीशीटरों को तत्काल गिरफ्तार किया जाए।' उन्होंने EC से मांग की है कि केंद्रीय बल चुनाव क्षेत्रों में फ्लैग मार्च करें और मुख्यमंत्री को अपने समर्थकों को भड़काने के लिए प्रचार से प्रतिबंधित किया जाए। केंद्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी मांग की है कि आयोग ममता बनर्जी के प्रचार पर बैन लगाए। 

शाह बोले, रोड शो देख TMC के गुंडे हताश 
रोड शो में बवाल के बाद बीजेपी प्रेजिडेंट अमित शाह ने कहा कि आज पार्टी के रोड शो को देख TMC के गुंडे हताश हो गए और उन्होंने हमला कर दिया। उन्होंने कहा, 'मैं बीजेपी कार्यकर्ताओं को बधाई देना चाहता हूं कि इतने हंगामे के बाद भी रोड शो जारी रहा और तय स्थान और समय पर समाप्त हुआ।' उन्होंने सीधे तौर पर बवाल के लिए ममता को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा, 'ममता बनर्जी की पार्टी द्वारा की जा रही हिंसा की मैं निंदा करता हूं। मैं बंगाल की जनता से अपील करना चाहता हूं कि वह अपने वोट से इसका जवाब दे। राज्य में हिंसा को समाप्त करने के लिए TMC को सत्ता से बेदखल करना जरूरी हो गया है।' 

वहीं, नकवी ने कहा है कि परमिशन के बाद यह रोड शो हो रहा था। फिर भी बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमले किए गए और बम धमाका करने की कोशिश की गई। उन्होंने कहा कि अराजक तत्व चुनाव होने वाले इलाकों में प्रशासन के सहयोग से होटलों और घरों में शरण लिए हुए हैं। 

बताया जा रहा है कि अमित शाह का रोड शो कॉलेज स्ट्रीट पर कलकत्ता यूनिवर्सिटी के सामने से गुजरा तो बीजेपी और लेफ्ट व टीएमसी के छात्र संगठनों के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई। कई जगहों पर आगजनी भी हुई। कुछ देर बाद विद्यासागर कॉलेज में बनी ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति भी तोड़ दी गई। 

Source : Agency