इंदौर
लोकसभा चुनाव के लिए 19 मई को होने वाले मतदान से पहले आज कांग्रेस ने इंदौर जिले के लिए घोषणा पत्र जारी कर दिया। घोषणा पत्र कांग्रेस प्रत्याशी के जंजीर वाला चौराहा स्थित मुख्य चुनाव कार्यालय से मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने जारी किया। इस दौरान वर्मा ने कथित वायरल वीडियो जिसमे दिग्विजयसिंह को गाली देने की बात सामने आई थी उसे सिरे से नकार दिया। मंत्री वर्मा ने कहा वायरल हुआ वीडियो एडिट किया गया है जिसकी शिकायत वो आज देवास एसपी से करेंगे।

उन्होंने बताया कि दिग्विजयसिंह से आज उनकी मुलाकात देवास में होगी और वे अपनी बात इस संबंध में उनके पास रखेंगे। मंत्री वर्मा ने माना कि दिग्विजयसिंह उनके आदर्श है और वो उन्ही के पद चिन्हों पर चलकर राजनीति कर रहे है यहां तक कि उन्होंने ये भी कहा कि उनकी भाषा शैली भी दिग्गी की तरह है। दिग्गी को वास्तविकता बताने की चाह रखने वाले मंत्री वर्मा ने पोहा जलेबी का लुत्फ उठाया उसके पहले उन्होंने कांग्रेस के घोषणा पत्र के जरिये कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य, खेल , इंफ्रास्ट्रक्चर सहित यातयात व्यवस्था और रोड व ब्रिज निर्माण उनकी प्राथमिकता है और कांग्रेस ने इन कार्यो को लेकर एक रणनीति बनाई है।

वही उन्होंने पीएम मोदी के बड़बोलेपन पर सवाल उठाया और कहा कि वो झूठे है इस बात का  अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जब केदारनाथ त्रासदी हुई थी उस दौरान गुजरात के सीएम नरेंद्र मोदी ने 15 हजार गुजरातियों को बचाने का दावा किया था। उन्होंने सवाल उठाए की त्रासदी के दोरान क्या मोदी ने हेलिकॉप्टर के जरिये आसमान से गुजरातियों को पहचान लिया था और उन्हें उठाकर ले आये थे। वही उन्होंने कांग्रेस द्वारा प्रदेश में 17 सीट जीतने का दावा कर कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों का कर्ज माफ किया है जिस पर बीजेपी भ्रम फैला रही है।

Source : Agency