नई दिल्ली

ICC World Cup 2019: टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली को लगता है कि पाकिस्तानी क्रिकेट टीम विश्व कप (ICC World cup 2019) में फेवरिट टीम के रूप में प्रवेश करेगी। उनका इंग्लैंड में प्रदर्शन हमेशा शानदार रहा है। खासतौर से आईसीसी ईवेंट्स में। यही वजह है कि सौरव गांगुली ने भारत और इंग्लैंड के साथ पाकिस्तान को फेवरेट टीमों में शामिल किया है। 

सौरव गांगुली का मानना है कि इन तीनों टीमों के साथ सेमीफाइनल में पहुंचने वाली चौथी टीम ऑस्ट्रेलिया होगी। पाकिस्तान ने 2017 के चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल में भारत को हराया था। गांगुली ने कहा, ''पाकिस्तान का रिकॉर्ड वर्ल्ड टूर्नामेंट में शानदार रहा है। दो साल पहले उन्होंने चैंपियंस ट्रॉफी में भारत को हराया। 2009 में उन्होंने इंग्लैंड में टी-20 वर्ल्ड कप जीता।''

सौरव गांगुली ने हाल ही में पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच चल रही वनडे सीरीज का भी उदाहरण दिया। एक मैच में पाकिस्तान ने 374 रनों का पीछा लगभग कर ही लिया था, लेकिन वह 12 रन से मैच हार गई। 

पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा, ''पाकिस्तान इंग्लैंड में हमेशा अच्छा खेलता है। पिछले मैच में इंग्लैंड ने 374 रन बनाए। और पाकिस्तान सिर्फ 12 रन से यह मैच हारा। उन्होंने इंग्लैंड को इंग्लैंड में ही टेस्ट में भी हराया। क्योंकि उनके पास अच्छा गेंदबाजी लाइनअप है।'' गांगुली ने यह भी कहा कि भारत को पाकिस्तान से डरने की जरुरत नहीं है। भारत, पाकिस्तान से ज्यादा मजबूत है। उन्होंने कहा, ''मैं रिकॉर्डस में यकीन रखता हूं। भारत एक अच्छी टीम है। उन्हें हराना आसान नहीं है। उनके पास विराट कोहली, रोहित शर्मा, शिखर धवन जैसे बल्लेबाज हैं।''

आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की लगातार असफलताओं ने विराट कोहली का कप्तान क्षमताओं पर सवाल उठा दिए थे। लेकिन गांगुली का कहना है, ''भारत की कप्तानी एक अलग मामला है।'' गांगुली ने इस बात पर जोर दिया कि आरसीबी की असफलता का टीम इंडिया के कप्तान पर कोई असर नहीं होगा। कोहली का वनडे में रिकॉर्ड यूं भी शानदार है। 

उन्होंने कहा, ''विराट कोहली की कप्तानी की तुलना आईपीएल से मत कीजिए। भारत के लिए कप्तानी का उनका रिकॉर्ड शानदार है। कोहली के साथ धौनी भी हैं। पाकिस्तान के फेवरेट होने पर भारत जबरदस्त दबाव में रहेगा और य़ह भारत के लिए अच्छा होगा। उन्होंने कहा कि विराट टूर्नामेंट के बेस्ट प्लेयर साबित होंगे। गांगुली ने कहा, यह दिलचस्प वर्ल्ड कप होगा। इसमें सभी 10 टीमें एक-दूसरे से खेलेंगी। इसके बाद बेस्ट फोर के लिए क्वालीफाई करेंगी। यह 55 दिनों का टूर्नामेंटो होगा।

Source : Agency