भोपाल
नाथूराम गोडसे को आजाद भारत का पहला हिंदू आतंकी बताए जाने के कमल हासन के बयान पर छिड़ा सियासी संग्राम थमने का नाम नहीं ले रहा है। मध्य प्रदेश के भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर द्वारा गोडसे को देशभक्त बताए जाने के बाद कांग्रेस ने उनपर पलटवार किया है।


कांग्रेस नेता और भोपाल से प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ चुनाव लड़ रहे दिग्विजय सिंह ने गुरुवार को कहा कि नाथूराम गोडसे को लेकर पीएम मोदी, अमित शाह और राज्य बीजेपी को अपने बयान जारी करने चाहिए और देश से माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा, 'मैं इस बयान (प्रज्ञा ठाकुर के) की निंदा करता हूं। नाथूराम गोडसे एक हत्यारा था, उसका महिमामंडन करना देशभक्ति नहीं है, यह राष्ट्रद्रोह है।'

आपको बता दें कि इससे पहले प्रज्ञा ठाकुर ने कहा था, 'नाथूराम गोडसे देशभक्त थे। देशभक्त हैं और देशभक्त रहेंगे। उन्हें हिंदू आतंकवादी बताने वाले अपने गिरेबान में झांककर देखें। अबकी बार चुनाव में ऐसे लोगों को जवाब दे दिया जाएगा।'

यह पूरा विवाद तब शुरू हुआ था जब अभिनेता से नेता बने कमल हासन हिंदू आतंकवाद को लेकर विवादित बयान दिया था। तमिलनाडु में चुनाव प्रचार करते हुए हासन ने कहा था कि आजाद भारत का पहला आतंकवादी एक हिंदू था। कमल हासन ने कहा था, 'आजाद भारत का पहला आतंकवादी एक हिंदू था और उसका नाम नाथूराम गोडसे था। मैं यह इसलिए नहीं कह रहा हूं क्योंकि यहां पर कई सारे मुस्लिम मौजूद हैं। मैं महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने खड़े होकर यह कह रहा हूं।'

Source : Agency