मुंबई

आईटी और फाइनेंशियल सेक्‍टर की कंपनियों में खरीददारी का जोर रहने से गुरुवार को शेयर बाजार में रौनक रही.  सेंसेक्‍स कारोबार के दौरान ऊंचे में 37,518.94 अंक और नीचे में 37,052.30 अंक तक जाने के बाद समाप्ति के समय 278.60 अंक यानी 0.75 फीसदी बढ़कर 37,393.48 अंक पर बंद हुआ.

इसी तरह  निफ्टी 100.10 अंक यानी 0.90 फीसदी बढ़कर 11,257.10 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान दिन में यह ऊंचे में 11,281.55 और नीचे में 11,143.35 अंक के दायरे में रहा.

सेंसेक्स में शामिल शेयरों में बजाज फाइनेंस 3.64 फीसदी की बढ़त के साथ सबसे ज्यादा फायदे में रहा. कंपनी का मार्च तिमाही में शुद्ध मुनाफा 50 फीसदी उछलकर 1,114 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. इसके अलावा टाटा मोटर्स, इनफोसिस, वेदांता, ओएनजीसी, पावरग्रिड, एनटीपीसी, एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआईसी बैंक, कोटक बैंक, स्टेट बैंक, टाटा स्टील, टीसीएस और रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में भी 3.48 फीसदी तक की बढ़त दर्ज की गई.

इसके उलट यस बैंक का शेयर सबसे ज्यादा 4.07 फीसदी घटा है. गिरने वाले अन्य शेयरों में भारती एयरटेल, इंडसइंड बैंक, कोल इंडिया, आईटीसी, महिन्द्रा एंड महिन्द्रा, एचडीएफसी, मारुति और एशियन पेंट्स के शेयरों में 1.87 फीसदी तक की गिरावट रही.

कंपनियों के आए नतीजे

गुरुवार को बैंक आफ इंडिया ने मार्च में समाप्त चौथी तिमाही के दौरान 251.79 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हासिल किया. एक साल पहले इसी तिमाही में बैंक को 3,969 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था. वहीं वित्त वर्ष 2018- 19 की चौथी तिमाही में बैंक की कुल आय एक साल पहले की इसी अवधि के 9,596.86 करोड़ रुपये से बढ़कर 12,417.08 करोड़ रुपये पर पहुंच गई.

बैंक को हालांकि पूरे वित्त वर्ष 2018- 19 में 5,546.90 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ है. बता दें कि रिजर्व बैंक के त्वरित सुधारात्मक कार्रवाई (पीसीए) के दायरे से बाहर निकलने के बाद बैंक का यह पहला तिमाही परिणाम है.

इसी तरह बजाज फाइनेंस का एकल शुद्ध लाभ बीते वित्त वर्ष की चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) के दौरान 50 फीसदी बढ़कर 1,114 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 743 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था.

पूरे वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान कंपनी का शुद्ध लाभ बढ़कर 3,890 करोड़ रुपये पर पहुंच गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 2,485 करोड़ रुपये था. वहीं आदित्य बिड़ला समूह की प्रमुख कंपनी हिंडाल्को इंडस्ट्रीज का बीते वित्त वर्ष की 31 मार्च को समाप्त चौथी तिमाही का मुनाफा 37.4 प्रतिशत घटकर 235.82 करोड़ रुपये रह गया. 

Source : Agency