ग्वालियर 
बजेपी द्वारा कमलनाथ सरकार को गिराने की घुड़की के बाद मचे सियासी घमासान में केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर भी शामिल हो गए हैं, तोमर ने कहा कि कांग्रेस के कई विधायक हमारे संपर्क हैं. चार महीने में ही कमलनाथ सरकार के खिलाफ एंटी इंकम्बेंसी हो गई है.

नरेन्द्र सिंह तोमर ग्वालियर में थे. उन्होंने कहा कि एमपी में कमलनाथ सरकार पहले दिन से अल्पमत में है. बीजेपी ने जोड़-तोड़ नहीं की इसलिए कमलनाथ के नेतृत्‍व में कांग्रेस की सरकार बन गई, लेकिन इतने कम समय में ही कांग्रेस अंतरकलह से ग्रस्त हो गई है. चार महीने में ही सरकार के खिलाफ एंटी इंकम्बेंसी हो गई है.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस और अन्य कई विधायक बहुत पहले से उनके संपर्क में हैं, जब ज़रूरत पड़ेगी तब बात आगे बढ़ाई जाएगी. कांग्रेस सरकार अंतर्कलह औऱ एंटी इंकंबेंसी से ही गिर जाएगी.

एग्जिट पोल के नतीजों पर तोमर बोले कि मोदी के देशहित के कार्यों, विदेश नीति और सुरक्षा को जनता का समर्थन मिला है. सर्वे से साफ है कि वर्ष 2014 के मुकाबले आज जनता का मोदी पर भरोसा और बढ़ा है. 23 मई को मोदी जी के नेतृत्व में बहुमत की सरकार बनेगी. बंगाल में बीजेपी की सीटें बढ़ने से ममता बनर्जी में बौखलाहट आ गई है.

Source : Agency