भोपाल
 प्रदेश में लोकसभा चुनाव परिणाम के लिए आज सुबह से मतगणना चल रही है। शुरूआती रूझानों में भाजपा 29 लोकसभा सीटों में से 28 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। यदि रुझान परिणाम में बदलते हैं तो भाजपा मप्र में पिछली बार 27 सीट जीतने का अपना ही रिकॉर्ड तोड़ सकती है। लोकसभा चुनाव के नतीजों से साफ है कि मप्र में शिवराज सिंह चौहान की लोकप्रियता बरकरार है। भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का अब पार्टी में कद बढ़ेगा। पश्चिम बंगाल में भाजपा की जीत में कैलाश का अहम योगदान है।  

 मप्र में सबसे चौंकाने वाले परिणाम खुजराहो सीट पर हैं, खजुराहो लोकसभा से भाजपा प्रत्याशी बीडी शर्मा की जीत सुनिश्चित मानी जा रही है। वीडी शर्मा 3 लाख से अधिक मतों से निर्णायक बढ़त ली है। भाजपा ने वीडी को जब खजुराहो से प्रत्याशी घोषित किया तब उनका सबसे ज्यादा विरोध हुआ था। इसके बावजूद भी वीडी यहां से भारी मतों से जीत की ओर अग्रसर है। भाजपा में वीडी शर्मा बड़े नेता के रूप में उभरेंगे। चुनाव के रुझान बता रहे हैं कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की लोकप्रियता प्रदेश में बरकरार है। उन्होंने प्रदेश में 150 से ज्यादा चुनावी सभाएं की हैं।

मप्र भाजपा में शिवराज सिंह चौहान एकलौते ऐसे नेता हैं, जिन्होंने सभी लोकसभा क्षेत्रों में जाकर चुनावी सभाओं को संबोधित किया है। साथ ही रोड शो किया। भाजपा में स्टार प्रचारकों में मोदी, शाह के बाद शिवराज सिंह चौहान की मांग सबसे ज्यादा थी। उन्होंने ताबड्तोड़ सभाएं की है। शिवराज ने इंदौर, राजगढ़, विदिशा, गुना, सागर सीट पर अपने चहेतों को टिकट दिलवाया। खबर लिखे जाने तक जो रुझान आ रहे हैं, उनके अनुसार ये सभी सीटों पर प्रत्याशी जीत रहे हैं।

केंद्रीय नेतृत्व ने भी डाले रखा था डेरा

लोकसभा चुनाव के दौरान मप्र में केंद्रीय नेतृत्व ने भी डेरा डाल रखा था। प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे, गुजरात के प्रभारी ओम माथुर ने भोपाल संसदीय क्षेत्र में खासा समय दिया। राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल ने भोपाल संसदीय क्षेत्र में वार्ड पदाधिकारियों की बैठक ली। साथ ही संघ ने भी पूरी ताकत झोंकी। यही वजह रही कि भाजपा भोपाल, राजगढ़्र, खजुराहो, खरगोन, रतलाम में जीत की ओर अग्रसर है।

मोदी-शाह ने भी झोंकी ताकत

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मप्र में आधा दर्जन से ज्यादा चुनावी सभाओं को संबोधित किया। साथ ही भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी करीब एक दर्जन चुनावी सभाएं की। शाह ने भोपाल एवं जबलपुर में पार्टी प्रत्याशियों के पक्ष में रोड शो किया। हालांकि भाजपा ने मोदी और शाह की एक भी सभा छिंदवाड़ा लोकसभा सीट पर तय नहीं की थी।

Source : Agency