अपने आप को जवान और खूबसूरत कौन नहीं रखना चाहता है। हालांकि उम्र के साथ-साथ लोगों की जवानी और खूबसूरती दोनों ढलने लगती है, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि पाकिस्तान में एक ऐसी भी जगह है, जहां की महिलाएं 80 साल की उम्र में भी महज 30-40 की लगती हैं। 

पाकिस्तान की ये महिलाएं दुनिया की सबसे खूबसूरत कही जाती हैं। एक ओर जहां यहां की औरतें बूढ़ी होने पर भी जवान दिखती हैं, तो वहीं यहां के पुरुष 90 साल की उम्र में भी पिता बन सकते हैं। 

हम बात कर रहे हैं हुंजा समुदाय के बारे में, जो उत्तरी पाकिस्तान की काराकोरम पहाड़ियों में स्थित हुंजा घाटी में रहते हैं। कहते हैं कि यहां के लोग औसतन 120 साल तक जिंदा रहते हैं। 

हुंजा समुदाय के लोगों को बुरुशो भी कहते हैं। ये बुरुशास्की भाषा बोलते हैं। कहा जाता है कि ये समुदाय सिकंदर महान की सेना के वंशज हैं, जो चौथी सदी में भारत आए थे। 

कहते हैं कि हुंजा समुदाय के लोग पाकिस्तान के अन्य समुदाय के लोगों से कहीं ज्यादा शिक्षित हैं। हुंजा घाटी में इनकी संख्या 85 हजार से भी ज्यादा हैं। यह समुदाय मुस्लिम धर्म को मानता है और इनके सारे क्रियाकलाप भी मुस्लिमों जैसे ही हैं। 

हुंजा घाटी पाकिस्तान के मशहूर पर्यटन स्थलों में से एक है। दुनियाभर से लोग यहां पहाड़ों की खूबसूरती देखने आते हैं। इस समुदाय के ऊपर कई किताबें भी लिखी जा चुकी हैं, जिसमें 'द हेल्दी हुंजाज' और 'द लॉस्ट किंगडम ऑफ द हिमालयाज' शामिल हैं। 

समुदाय के लोग शारीरिक और मानसिक तौर पर बहुत मजबूत होते हैं। कहते हैं कि यहां के लोगों की जीवनशैली ही उनके लंबे जीवन का राज है। ये लोग सुबह पांच बजे उठ जाते हैं। यहां के लोग साइकिल या गाड़ियों का इस्तेमाल बहुत कम ही करते हैं और पैदल ज्यादा चलते हैं। 

हुंजा समुदाय के लोग आमतौर पर जौ, बाजरा, कुट्टू और गेहूं का आटा ही खाते हैं, जो इन्हें शारीरिक तौर पर मजबूत बनाने में काफी मदद करता है। कहते हैं कि ये लोग मांस का सेवन बहुत कम ही करते हैं। किसी खास अवसर पर ही यहां मांस बनता है, लेकिन उसमें भी ये लोग बहुत हिसाब से ही खाते हैं। 
 

Source : Agency