हर किसी के घर में सबसे महत्वपूर्ण स्थान पूजा घर का होता है। जहां सभी परिवार के सदस्य एकसाथ मिलकर भगवान की पूजा करते हैं। कई लोग तो इस जगह को घर में किसी अलग स्थान पर बनवाते हैं और कई लोग अपने कमरे में ही बनवा लेते हैं, जोकि गलत होता है। वैसे अगर देखा जाए तो पूजा घर छोटा हो या बड़ा इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है। सबसे बड़ा फर्क पड़ता है कि पूजा घर में कौन-कौन सी चीज़ें हम रख रहे हैं। कहते हैं कि अगर मंदिर की साफ-सफाई न की जाए तो इससे पूरे घर में वास्तु दोष लगता है और साथ ही इस बात का ध्यान भी रखना चाहिए कि हम कौन सी चीज़ मंदिर के अंदर रख रहे हैं। तो चलिए जानते हैं वास्तु के मुताबिक कौन सी चीज़ जरूरी है और कौन सी नहीं।

घर के मंदिर में तांबे का कलश रखने से घर में शुभता आती है। कलश में जल भरकर ऊपर पानी वाला नारियल रखने से माता लक्ष्मी प्रसन्न होती है और धन के योग बनते हैं। 

हिंदू धर्म में स्वास्तिक के निशान को बहुत ही शुभ माना गया है। ये घर के मुख्य द्वार पर तो होना ही चाहिए और इसके साथ ही घर के मंदिर में इसे जरूर बनाना चाहिए। आप इसे पूजा की थाली में भी बना सकते हैं। इससे माता लक्ष्मी का आशीर्वाद मिलता है।

अगर आप देवी देवताओं का आशीर्वाद पाना चाहते हैं और अपने घर को बुरी नजर से बचाना चाहते हैं तो अपने घर के मंदिर घी या फिर सरसों के तेल का दिया सुबह-शाम अवश्य जलाएं।

शास्त्रों के अनुसार घर के मंदिर में पूजा घंटी जरूर होनी चाहिए। कई लोग घर के मंदिर में घंटी लगवाते हैं तो कई लोग हाथ में पकड़ने वाली छोटी घंटी रखते हैं। इसलिए स्थान चाहे जैसा भी हो मंदिर में घंटी जरूर होनी चाहिए। इससे घर का वालावरण शुद्ध होता है और साथ ही व्यक्ति को सकरात्मक ऊर्जा मिलती रहती है। 

ऐसा माना गया है कि घर के मंदिर में शंख होना जरूरी है। क्योंकि समुद्र मंथन के समय बहुत सी मूल्यवान चीजें उत्पन्न हुई थी, उन्हीं चीजों में से एक शंख भी उत्पन्न हुआ था जो बहुत ही पवित्र माना गया है। जिन घरों में पहले से शंख होता है, उन्हें सुबह-शाम इसे जरूर बजाना चाहिए। इसकी ध्वनि से सारे रोग दूर होते हैं और घर में सुख-समृद्धि बढ़ती है। 

Source : Agency