नौ महीने की प्रेगनेंसी के दौरान एक महिला के शरीर में कई बदलाव आते हैं। ज्‍यादातर महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान बढ़ने वाले वजन को लेकर ज्‍यादा चिंता रहती है जो कि वाजिब भी है। पहली बार मां बनने वाली महिलाओं को अपने सही वजन में आने में थोड़ा समय लगता है। हालांकि, कुछ बातों को ध्‍यान में रखकर आप अपने पुराने फिगर को वापिस पा सकती हैं।

खानपान की आदतों का ध्‍यान रखें
प्रसव के बाद महिलाओं को अपनी खानपान की आदतों को ज्‍यादा ध्‍यान में रखने की जरूरत होती है क्‍योंकि उनका शिशु भी आहार के लिए उन्‍हीं पर निर्भर होता है। इसके अलावा प्रेगनेंसी के बाद इमोशनल ईटिंग भी सामान्‍य बात है। अगर आप प्रेगनेंसी के बाद अपने वजन को कम करना चाहती हैं तो खाने की मात्रा को कंट्रोल करें और अपने आहार में अलग-अलग तरह के फल एवं सब्जियों को शामिल करें। स्‍वस्‍थ आहार भी व्‍यायाम जितना ही जरूरी होता है। मनचाहा परिणाम पाने के लिए एक्‍सरसाइज और संतुलित आहार दोनों ही बहुत जरूरी होते हैं। अपने खाने का समय निश्चित करें और भारी, मसालेदार और तैलीय चीजों को खाने से बचें।

अपने लिए भी समय निकालें
हर मां के लिए उसका शिशु सबसे ज्‍यादा जरूरी होता है लेकिन आपको अपनी सेहत पर भी ध्‍यान देना चाहिए। प्रेगनेंसी के तुरंत बाद अपने लिए समय निकालकर कोई शारीरिक व्‍यायाम करना मुश्किल होता है लेकिन आपको शिशु और अपनी सेहत के बीच संतुलन बनाकर चलना चाहिए। अकसर महिलाओं को शिशु के होने के बाद अपने लिए समय निकालना बुरा लगता है लेकिन यकीन मानिए इसमें कोई बुराई नहीं है। रोज 10 मिनट निकालने से शुरुआत करें और अपनी फिटनेस पर ध्‍यान दें।

नई नई चीजें आजमाएं
"जिम के लिए समय नहीं है" - ये सब कहना बहुत आसान होता है। जाहिर सी बात है कि शिशु की देखभाल में आपको समय नहीं मिल पाता होगा लेकिन आपको अपने लिए समय तो निकालना ही पड़ेगा। अगर समय की कमी की वजह से आप जिम नहीं जा सकती हैं तो घर पर ही वर्कआउट करने की कोशिश करें। शिशु के सोने पर वर्कआउट करें और शाम को शिशु के साथ सैर पर भी निकल सकती हैं। ऐसी छोटी-छोटी चीजों से भी आपको अपनी सेहत में फर्क नजर आने लगेगा।

दूसरों से तुलना ना करें
अकसर महिलाएं सोशल मीडिया पर सेलेब्रिटी मदर्स या अन्‍य महिलाओं के फिट फिगर को देखती हैं। उनके मन में भी ये सवाल आता है कि आखिर उन लोगों के लिए प्रेगनेंसी के बाद वापिस से शेप में आना इतना आसान कैसे बना। ये सब सोच कर आपको निराशा ही होगी। दूसरों के साथ अपनी तुलना ना करें। हो सकता है कि जिस महिला ने प्रेगनेंसी के बाद फिट रहने के लिए घंटों जिम में बिताए हैं उनके शिशु की देखभाल के लिए घर पर कोई और मौजूद हो। आप उनकी तरह नहीं हैं इसलिए आपके वजन घटाने का सफर भी उनसे अलग ही होगा।


मदद ले सकती हैं
आप अपने परिवार में से किसी सदस्‍य या अपने पति की मदद ले सकती हैं। वर्कआउट के समय इनमें से कोई आपके शिशु की देखभाल कर सकता है। अपने शरीर की जरूरतों को अनदेखा करके आप अपनी ही मुश्किलें बढ़ा लेती हैं इसलिए ऐसा ना करें। इसका असर आपके बच्‍चे पर भी पड़ेगा।

धैर्य ना खोएं
जाहिर सी बात है कि तोंद तो किसी को पसंद नहीं होती है लेकिन आपको ये भी समझना होगा कि डिलीवरी के बाद वापिस शेप में आने में समय लगता है। आप प्रेगनेंसी में बढ़े वजन को मात्र एक हफ्ते में तो घटा नहीं सकती हैं। ऐसे में आपका धैर्य भी डगमगाएगा लेकिन खुद पर ज्‍यादा दबाव ना डालें। धीरे धीरे आपको अपनी मेहनत का असर खुद दिखने लगेगा।

 

Source : Agency