कहते हैं कि अगर पति-पत्नि के रिश्तों में जरा सी भी अनबन हो तो इस बात को सब जान लेते हैं। पति और पत्नी एक ही पंछी के दो पंख है। अगर रिश्ते को आकाश में ऊंची उड़ान भरना है तो दोनों पंख का समान और मजबूत होना आवश्यक है। अगर आपके रिश्ते में भी बिना किसी बात को लेकर बहस हो जाती है तो आज हम आपके लिए लेकर आएं हैं वास्तु से जुड़े उन उपायों को, जिसे अपनाकर दंपत्ति जीवन में मिठास घुल जाएगी और कभी भी आपके रिश्ते के बीच दरार नहीं आएगी। वास्तु शास्त्र के अनुसार ऐसा माना गया है कि इन उपाय को अपनाने से बेकार की तकरार भी खत्म हो जाएगी। 

वास्तु के अनुसार बिस्तर घर में उत्तर या उत्तर-पूर्व की ओर रखना चाहिए। नवविवाहितों लिए तो यह दिशा बहुत ही अच्छी मानी गई है। यदि ऐसा करना संभव नहीं हो, तो दक्षिण-पश्चिम में भी अपना बिस्तर रख सकते हैं। 

दंपत्ति को चाहिए कि वह अपने बेडरूम में सुंदर आकृतियां लगाएं। जैसे- छोटे बच्चों की तस्वीरें, मोमबत्तियां, गुलाब के फूलों की पेंटिग। कभी भी कमरे में जानवरों की तस्वीरें नहीं लगानी चाहिए। 

बेडरूम की दीवारों का रंग लाल हो तो ओर भी अच्छा है वरना कोई भी ब्राइड कलर आप करवा सकते हैं। फेंगशुई के अनुसार बेडरूम में क्रिस्टल बॉल जरूर रखें। 

एक बात का ध्यान आपको रखना है कि बिस्तर के सामने या पीछे दर्पण नहीं होना चाहिए। यदि जगह की कमी के कारण दर्पण रखना मजबूरी है तो उसे कपड़े से ढंक कर रखें। क्योंकि ऐसा होने से संबंधों में नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव पड़ता है और दरार आती है। 

बेडरूम में भगवान की तस्वीर या मूर्तियां न रखें। पूर्वजों की तस्वीरें भी बेडरूम में नहीं रखनी चाहिए। जगह की कमी के कारण पूजा स्थान बेडरूम में ही रखना जरूरी हो, तो पर्दा लगाकर रखें।

कई लोग अपने कमरे में एक्वेरियम जैसी पानी वाली चीजें न रखें। इसी तरह बेडरूम में पौधा, टीवी, कंप्यूटर जैसे उपकरण भी नहीं रखने चाहिए। उसे हमेशा हल्का और साफ-सुथरा ही रखें। 

वास्तु के हिसाब से बिस्तर दरवाजे के ठीक सामने नहीं होना चाहिए। इससे सेहत पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

बिस्तर पर फटी या काफी पुरानी चादर न बिछाएं और सफाई का भी ध्यान रखें।

Source : Agency