बेंगलुरु
अबतक पुलिसवालों के बहुत से रूप देखने को मिले है। लेकिन इन दिनों कर्नाटक में एक बेहद दिलचस्प किस्सा सामने आया है। जहां पर कर्नाटक के हुबली रूरल पुलिस स्टेशन में तैनात एक हेड कांस्टेबल इस समय चर्चा का विषय बने हुए है। दरअसल वीवीआईपी ड्यूटी पर तैनात हेड कॉन्स्टेबल ने बोरियत को दूर करने के लिए अनोखा टाइमपास निकाला है। 

जिस लाठी से देशभर की पुलिस अपराधियों से उसके अपराध को उगलवाने के लिए इस्तेमाल करती है। अब उसी लाठी को हेड कांस्टेबल बांसुरी बना सुरीली आवाज निकालकर टाइमपास करते हैं। जिनका यह अनोखा वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी के साथ वायर हो रहा है। 

यहां एक 52 वर्षीय हेड कॉन्सटेबल ने अपनी फाइबर लाठी को एक बांसुरी में बदल दिया। शख्स का नाम चंद्रकांत हटगी है और पेशे से वह कानून के रक्षक यानी एक पुलिस वाले हैं। इस पुलिसकर्मी ने अपनी फाइबर लाठी को संगीत बजाने वाले इंस्ट्रूमेंट में बदल दिया।

यह चमत्कार उसने अपने ड्यूटी के दौरान दिखाया। बेंग्लोर के आईपीएस अधिकारी भास्कर राव ने हटगी का ये वीडियो अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया है। जिसमें हटगी बड़ी उत्साह से अपनी लाठी को बांसुरी बनाकर बजाता दिख रहा है।

उन्होंने इस वीडियो को शेयर करते हुए एक कैप्शन भी लिखा, ‘हुबली ग्रामीण पुलिस स्टेशन के हेड कॉन्स्टेबल चंद्रकांत हटगी ने अपने डेडली फाइबर लाठी को म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट में बदल दिया है, हमे उस पर गर्व है।’ ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो को लोग खूब पसंद कर रहे है।

वीडियो को अब तक 8000 से भी ज्यादा बार देखा जा चुका है और लगभग 1000 से भी ज्यादा लोग इसे लाइक कर चुके हैं। 

यूजर्स वीडियो को देख हेड कॉन्सटेबल की कला की खूब सराहना कर रहे हैं। कुछ यूजर्स ने वीडियो पर ऐसे कमेंट भी किए ‘सर इसका मतलब इसको बजा भी सकते है और इससे बजा भी सकते है।’ 

वहीं एक दूसरे यूजर ने लिखा इससे तो आप कानून का उल्लंघन करने वाले लोगों को बांसुरी की धुन पर नचा भी सकते हैं। तीसरे यूजर ने लिखा काश लुटेरे इसे बांसुरी बजाने वाले की तरह फॉलो करते।

Source : Agency