पेरिस
आस्ट्रेलिया की एश्ले बार्टी ने करियर का पहला ग्रैंड स्लेम फ्रेंच ओपन के रूप में जीत इतिहास रच दिया है, लेकिन यह दिलचस्प है कि स्टार टेनिस खिलाड़ी मात्र तीन वर्ष पहले तक एक पेशेवर क्रिकेटर थीं। बार्टी ने रोलां गैरों में चे गणराज्य की मार्केटा वोंड्रोसोवा को लगातार सेटों में 6-1, 6-3 से हराकर वर्ष का दूसरा ग्रैंड स्लेम अपने नाम किया। वह वर्ष 1973 में मार्गेट कोर्ट के बाद पहली आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी हैं जिन्होंने अपने देश के लिये ग्रैंड स्लेम जीता है। इस खिताब के बाद वह डब्ल्यूटीए रैंकिंग में दुनिया की दूसरे नंबर की महिला खिलाड़ी बन गयी हैं। हालांकि तीन वर्ष पूर्व तक ही वह आस्ट्रेलिया के लिये पेशेवर क्रिकेट खेला करती थीं और राष्ट्रीय महिला टीम में खेलने के करीब थीं। हालांकि उनकी पूर्व क्रिकेट कोच एंडी रिचर्ड्स ने बताया कि बार्टी ने अपने करियर में बड़ा बदलाव करते हुये टेनिस खेलने का फैसला किया। बार्टी का करियर काफी उतार चढ़ाव से भरा रहा है और पांच वर्ष पहले यूएस ओपन के बाद उन्होंने टेनिस भी छोड़ने का फैसला कर लिया। वह सफल जूनियर टेनिस खिलाड़ी रहीं और 2011 में जूनियर महिला विंबलडन खिताब जीता जबकि तीन महिला युगल फाइनल में भी खेला।
 

Source : Agency