हैदराबाद
ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने दावा किया है कि वायनाड से राहुल गांधी को जीत इसलिए मिली, क्योंकि वहां पर 40 फीसदी मुसलमान हैं। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा और कहा कि वह देश में मुसलमानों के लिए जगह चाहते हैं, लेकिन वह यह नहीं जानते कि मुस्लिम समुदाय किसी की भीख पर जिंदा नहीं है।

 

तेलंगाना के हैदराबाद से सांसद ओवैसी ने रविवार को एक जनसभा में कहा कि 15 अगस्त, 1947 को जब देश आजाद हुआ तो हमारे बुजुर्गों ने सोचा था कि यह एक नया भारत होगा। यह भारत आजाद, गांधी, नेहरू, आंबेडकर और उनके करोड़ों अनुयायियों का होगा। उन्होंने कहा, 'मुझे अभी भी उम्मीद है कि हमें इस देश में अपना हक मिलेगा। हमें भीख नहीं चाहिए, हम आपकी भीख पर जिंदा नहीं रहना चाहते।'

 

'बीजेपी कहां हारी है?'
ओवैसी ने कहा, 'आप कांग्रेस और दूसरी धर्मनिरपेक्ष पार्टियां छोड़ना नहीं चाहते लेकिन याद रहे कि उनके पास ताकत और सोच नहीं है, वे कठिन परिश्रम भी नहीं करते।' ओवैसी ने सवाल किया, बीजेपी कहां हारी है? फिर इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पंजाब में बीजेपी हारी है। वहां कौन है? पंजाब में सिख ज्यादा हैं। देश में बीजेपी को और कहां हार मिली? बीजेपी क्षेत्रीय पार्टियों से हारी है, कांग्रेस से नहीं।

हैदराबाद सांसद ने राहुल गांधी को निशाने पर लिया और कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष खुद अपने गढ़ अमेठी से चुनाव हार गए। वह वायनाड से चुनाव जीते। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी वायनाड से इसलिए जीते, क्योंकि वहां 40 फीसदी मुसलमान हैं।


आपको बता दें कि राहुल गांधी को वायनाड में 7,05,034 वोट मिले। वह यहां 4,31,063 वोटों से चुनाव जीते हैं। राहुल गांधी ने यहां पर अपने प्रतिद्वंदी लेफ्ट डेमोक्रैटिक फ्रंट के प्रत्याशी पीपी सुनीर को हराया। केरल में कांग्रेस और यूनाइडेट डेमोक्रैटिक फ्रंट (यूडीएफ) के गठबंधन को 20 सीटों में से 19 सीटों पर जीत हासिल हुई। वहीं दूसरी ओर गांधी परिवार के गढ़ यूपी के अमेठी में राहुल गांधी को बीजेपी प्रत्याशी स्मृति इरानी से हार मिली।

Source : Agency