भोपाल
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव आज सुबह मांडवा बस्ती पहुंचकर मृतका के परिजनों से मिले। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दरिंदों को फांसी देने का नियम देश में सबसे पहले मेरी सरकार ने बनाया था, लेकिन फांसी नहीं हो पा रही है। 

दरिंदों को जल्द फांसी दिलाने के लिए मैं जल्द ही चीफ जस्टिस आॅफ इंडिया को आग्रह पत्र लिखेंगे। उन्होंने परिजनों को सांत्वना देते हुए कहा कि हर कदम पर परिजनों के साथ हैं। शिवराज सिंह ने कहा कि लापरवाह पुलिसकर्मियों को निलंबित नहीं नौकरी से निकाला जाए। उज्जैन, छतरपुर और भोपाल में महिलाओं के साथ हुई घटनाएं असहनीय हैं। सरकार को चेतना होगा। इस मामले को भाजपा विधानसभा के आगामी सत्र में भी उठाएगी। परिजनों को पांच लाख की मदद नहीं आरोपी को फांसी की सजा चाहिए।

Source : Agency