नई दिल्ली
चक्रवाती तूफान ‘वायु’ आज गुजरात से टकरा सकता है. वायु के खतरे को देखते हुए एजेंसियां अलर्ट पर हैं. हालांकि, गुरुवार सुबह राहत की खबर ये आई कि वायु का असर पूरे राज्य पर नहीं बल्कि तटीय इलाकों पर ही देखने को मिल सकता है. समुद्री तट पर बसे मछुआरों को किनारे से हटने को कहा गया है, यहां तक कि उनके गांवों में भी पानी भर गया है. किसी भी अनहोनी का सामना करने के लिए NDRF की 52, SDRF की 9, SRP की 14 कंपनियां तैनात हैं. केंद्र सरकार भी राज्य सरकार के साथ मिलकर काम कर रही है.
प्रशासन ने तैयार कर रखे हैं खाने के पैकेट
चक्रवात वायु के खतरे को देखते हुए प्रशासन ने कई तरह की व्यवस्था की हुई हैं. प्रशासन ने खाने के पैकेट भी तैयार किए हुए हैं, जिसे जरुरतमंदों को दिया जा सके.
खतरा हुआ कम लेकिन अलर्ट पर है प्रशासन
चक्रवात वायु आज गुजरात में अपना असर दिखा सकता है. लेकिन इसके आने से पहले ही एक राहत वाली खबर आई है. बताया जा रहा है कि अब इसका असर पूरे राज्य पर नहीं बल्कि तटीय इलाकों पर ही पड़ेगा. हालांकि, प्रशासन अभी भी इसे हल्के में नहीं ले रहा है. 
प्रशासन ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर
चक्रवाती तूफान वायु के दौरान लोगों की मदद करने के लिए जिला प्रशासन और एनडीआरएफ ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं. एनडीआरएफ का हेल्पलाइन नंबर- 91-9711077372 है. इसके अलावा चक्रवात वायु प्रभावित जिलों के हेल्पलाइन इस प्रकार हैं.जामनगर कंट्रोल रूम नंबर: 0288-2553404द्वारका कंट्रोल रूम नंबर: 02833-232125पोरबंदर कंट्रोल रूम नंबर: 0286-2220800दाहोद कंट्रोल रूम नंबर: 02673-239277नवसारी कंट्रोल रूम नंबरः 02637-259401पंचमहल कंट्रोल रूम नंबर: +912672242536छोटा उदयपुर कंट्रोल रूम नंबर: +912669233021कच्छ कंट्रोल रूम नंबर: 02832-250080राजकोट कंट्रोल रूम नंबर: 0281-2471573अरावली कंट्रोल रूम नंबर: +912774250221

Source : Agency