नई दिल्ली 

इंग्लैंड में चल रहे क्रिकेट वर्ल्ड कप के लिए विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को इंग्लैंड बुला लिया गया है. उन्हें चोटिल सलामी बल्लेबाज शिखर धवन के कवर के रूप में बुलाया गया है. हैरान करने वाली बात यह है कि शिखर धवन के वर्ल्ड कप से पूरी तरह बाहर नहीं होने तक पंत को इंडियन ड्रेसिंग रूम में जाने का मौका नहीं मिलेगा.

वर्ल्ड कप के लिए चुनी गई टीम इंडिया में पंत को जगह नहीं मिलने पर क्रिकेट जगत दो वर्गों में बंट गया था. एक वर्ग का कहना था कि पंत को टीम में रखना चाहिए था, वहीं कुछ दिग्गज खिलाड़ियों का मानना था कि चयनकर्ताओं का फैसला सही है.

पंत पाकिस्तान के साथ 16 जून को होने वाले हाई वोल्टेज मुकाबले से पहले मैनचेस्टर में टीम से जुड़ेंगे. इंग्लैंड दौरे पर आए बीसीसीआई के एक अधिकारी ने पीटीआई से कहा, 'टीम प्रबंधन के आग्रह पर ऋषभ पंत को कवर के तौर पर भारत से बुलाया गया है.'

बाकी टूर्नामेंट में धवन की उपलब्धता को लेकर टीम प्रबंधन के अंतिम फैसला नहीं करने तक उन्हें विकल्प के तौर पर टीम से नहीं जोड़ा जाएगा. पंत ने पिछले एक साल में प्रभावशाली प्रदर्शन किया. उन्होंने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट मैचों में शतक भी लगाए और पिछले महीने आईपीएल के दौरान अच्छी फार्म में थे.

बीसीसीआई सूत्रों से पता चला है कि 2015 विश्व कप में धवल कुलकर्णी की तरह पंत औपचारिक रूप से टीम का हिस्सा नहीं होंगे और मैच के दिन उन्हें ड्रेसिंग रूम में जाने का मौका नहीं मिलेगा. एक सूत्र ने पीटीआई से कहा, 'वह मैनचेस्टर में पाकिस्तान के खिलाफ मैच से पहले पहुंचेंगे. इसलिए वह यहां नहीं आ पाएंगे लेकिन वह मैनचेस्टर में होंगे. वह टीम का हिस्सा नहीं होंगे इसलिए खलील अहमद के साथ अलग से यात्रा करेंगे.'

उन्होंने कहा, 'मैच के दिन उसे ड्रेसिंग रूम में आने का मौका नहीं मिलेगा. आईसीसी के भ्रष्टाचार रोधी नियमों के अनुसार सिर्फ चुने हुए खिलाड़ी ही टीम के साथ यात्रा कर सकते हैं और ड्रेसिंग रूम में जा सकते हैं.'

सुनील गावस्कर सहित कई पूर्व खिलाड़ियों ने धवन के फिट नहीं हो पाने पर उनकी जगह पंत को टीम में शामिल करने की वकालत की थी. धवन बायें हाथ के अंगूठे में चोट के कारण 3 मैचों से बाहर हो चुके हैं. वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शतकीय पारी के दौरान चोटिल हो गए थे. हालांकि, टीम के फील्डिंग कोच संजय बांगर ने बुधवार को कहा कि धवन 10 से 12 दिन में टीम में वापसी कर सकते हैं.

Source : Agency