रायपुर 
छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में बने स्काईवॉक का विवाद सुलझलने का नाम नहीं ले रहा है. राज्य सरकार भी इस असमंजस में है कि आखिर इसे रखा जाए या तोड़ दिया जाए. बुधवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ महापौर प्रमोद दूबे और विधायक विकास उपाध्याय इस बारे में जनता से राय लेते हुए नज़र आए. महापौर प्रमोद दुबे ने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पहले दिन से सपष्ट कहा है कि जनता की राय के आधार पर ही स्काई वॉक को लेकर निर्णय लिया जाएगा. इसलिए कांग्रेस नेता अब स्काई वॉक की ड्राइंग डिजाइन लेकर स्काई वॉक के पास चौराहे में बैठे रहे. इस दौरान कुछ ऐसे लोग भी पहुंचे जिन्होने इसे तोड़ने के बजाय इसके दूसरे उपयोग को लेकर भी अपना सुझाव कांग्रेस कार्यकर्ताओं को दिया.

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ये साफ कर दिया है कि स्काई वॉक जनसुविधाओं के अनुरूप नहीं है. इसलिए इसे तोड़ा जाना चाहिए. लेकिन उससे पहले कांग्रेस जनता को भी अपने भरोसे में लेना चाह रही है. इसलिए जनता से उनकी राय मांगी गयी. इससे पहले सीएम भूपेश ने स्काई वॉक को लेकर कहा था कि स्काई वॉक का उपयोग दिखाई नहीं देता. बल्कि लोग इससे परेशानी ही हो रहे हैं. स्काई वॉक के उपर ग्लास और नीचे अल्यूमिनियम शीट डाली गई है. इतनी गर्मी में लोगों को क्या हाल होगा आप सोच ही सकते हैं.

Source : Agency