भोपाल
प्रदेश में कमलनाथ सरकार 6 महीने का कार्यकाल पूरा कर  रही है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 17 दिसंबर को शपथ लेते ही चुनाव से पहले जनता से किए गए वचन निभाना शुरू कर दिया है। सरकार अभी तक 100 से ज्यादा वचन पूरे कर चुकी है। यानी कमलनाथ सरकार रोजाना एक वचन पूरा कर रही है। सरकार छह महीने के कार्यकाल में से सिर्फ 3 महीने ही काम कर पाई है, जबकि करीब इतने ही समय तक लोकसभा चुनाव की आचार संहिता प्रभावी रही। 

 सरकार के  अभी तक जनता के हित में जो फैसले किए हैं, वे जनता के बीच नहीं पहुंच पाए हैं। अब मंत्री जिलों के प्रवास के दौरान सरकार की उपलब्धियां गिनाएंगे। सरकार के प्रवक्ता एवं जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने बताया कि 17 जून को मुख्यमंत्री कमलनाथ सरकार के छह माह पूर्ण हो रहे हैं। राज्य सरकार ने इस दौरान वचन-पत्र में किये गये लगभग सौ वायदे पूर्ण किये हैं, जबकि इन 6 माह में लगभग 3 माह आचार संहिता में निकल गये और मुख्यमंत्री को बमुश्किल सौ दिन ही काम करने का अवसर मिला। शर्मा ने बताया कि इन सौ दिनों में सरकार ने कई जन-हितैषी महत्वपूर्ण फैसले लेकर उन्हें क्रियान्वित किया है। सरकार के इन निर्णयों से आम जनता को अवगत कराने के लिये 17 जून को जिलों में प्रभारी मंत्री प्रेस वार्ता लेंगे। जिन जिलों में प्रभारी मंत्री नहीं जा पायेंगे, वहाँ विधायक अथवा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष प्रेस वार्ता और परिचर्चा आयोजित करेंगे
 
शर्मा ने बताया कि इन 6 माह के दौरान सरकार द्वारा 21 लाख से अधिक किसानों का कर्जा माफ किया गया। पेंशन राशि को दोगुना किया गया। प्रदेश के 21 हजार से अधिक मंदिरों के पुजारियों के मानदेय में तीन गुना वृद्धि की गई। कर्मचारियों का भत्ता बढया गया है। भर्तियों के रास्ते खोले गए हैं। 

शर्मा ने कहा कि हमारी सरकार, कर्मचारी हितैषी सरकार है। सभी मांगों को  पूरा किया जाएगा। कर्मचारियों को उनके हक दिये जायेंगे। उन्होंने कर्मचारियों की मांगों को गंभीरता से पूरा करने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि वचन-पत्र में किये गये  प्रत्येक वचन को पूरा किया जाएगा।

Source : Agency