हमारे जीवन में कभी-कभी ऐसा होता है कि लगातार कड़ी मेहनत के बाद भी हमें सफलता नहीं मिलती है। ऐसा होने के चलते हम अपनी जिंदगी से निराश होकर अपनी किस्मत को कोसते रहते हैं। हालांकि कई बार हमारे द्वारा की गई अनजाने में की गई छोटी-छोटी गलतियां हमारे सौभाग्य को दुर्भाग्य में तब्दील कर देती हैं लेकिन वास्तुशास्त्र के अनुसार धन संबंधी परेशान‌ियों का कारण अक्सर हमारे घर में ही मौजूद होता है। इसलिए वास्तु के कुछ खास मंत्र ध्यान में रखें तो ये धन वृद्ध‌ि में कारगर साबित हो सकते हैं। इन आसान उपायों को अपनाकर हम धन, सुख, समृद्धि और सौभाग्य की प्राप्ति भी कर सकते हैं।

शाम के समय घर के मुख्य द्वार पर सरसों तेल का दीप जलाएं। दीपक में कुछ साबुत चावल भी रख देना चाहिए। घर के मुख्य द्वार सहित किसी भी कमरे के दरवाजे पर जूते-चप्पलों को नहीं रखना चाहिए। सुबह उठकर घर के मुख्य द्वार पर एक लोटा पानी डालना चाहिए और साथ ही माता लक्ष्मी का ध्यान करने और पितरों को नमस्कार करने से धन-दौलत में वृद्धि होती है।

घर में अक्सर हम जूते चप्पल इधर-उधर रख देते हैं जबकि यह गलत होता है वास्तु के अनुसार, जूते चप्पलों को एक साथ जोड़ी बनाकर रखना चाहिए। साथी ही ध्यान रखना चाहिए कि जूते-चप्पल उलटे नहीं रखें हों, उलटे जूते-चप्पलों का होना अपशकुन माना जाता है। घर में झाड़ू, पोछा खुले स्थान में नहीं रहने दें। इन्हें कहीं ऐसे स्थान पर रखना चाहिए जहां पर किसी की नजर ना जाए, यानी इन्हें कहीं छिपाकर रखना चाहिए।

शाम के समय कपूर जलाकर घर के सभी कमरों में घुमाना चाहिए। वास्तु विज्ञान के अनुसार कपूर नकारात्मक उर्जा को घर में टिकने नहीं देता है। घर में सकारात्मक उर्जा की वृद्धि के लिए नियमित कपूर की आरती करनी चाहिए। सूर्यास्त के समय घर के किसी भी सदस्य को भोजन नहीं करना चाहिए। भोजन सूर्यास्त के पहले कर लेना उत्तम होता है। अगर ऐसा करना कठिन हो तो सूर्यास्त के बाद भोजन करना चाहिए।

वास्तुशास्त्र कहता है कि रात को सोने से पहले कुछ खास उपाय अपनाने चाहिए। रात में सोने से पहले हाथ, मुंह और पैर को धोकर अच्छे से पोंछ लेना चाहिए। गीले पैर बिस्तर पर नहीं चढ़ना चाहिए, वास्तु विज्ञान के अनुसार गीले पैर बिस्तर पर जाने से रोगों में वृद्धि होती है और धन की हानि होती है।

वास्तुशास्त्र बताता है कि बिस्तर पर जाकर पैसे के बारे में सोच-विचार ना करें। कुछ लोगों की आदत होती है कि रात को सोने से पहले पैसों का हिसाब-किताब करने बैठ जाते हैं जो कि आर्थिक रूप से नुकसानदायक होता है। इसलिए सोने से पहले ईश्वर और अपने कुल देवता और देवी का ध्यान करना लाभकारी होता है।

Source : Agency