ज्योतिषशास्त्र से लेकर वास्तु और फेंगशुई तक सभी में मछलियों और जलीय जीवों को शुभ बताया गया है। यही वजह है कि इन दिनों अक्वेरियम घर में रखने का प्रचलन बढ़ा है। लेकिन अक्वेरियम रखने के भी कुछ विशेष नियम हैं जिनका पालन करने से आप लाभ पा सकते हैं।

घर में अक्वेरियम रखने से सुख-समृद्धि में वृद्धि होती है। इसके पीछे फेंगशुई यह तर्क देता है कि इससे घर में सकारात्‍मक ऊर्जा बढ़ती है। रंगीन मछलियां नकारात्मक ऊर्जा को अपने ऊपर ले लेती हैं और घर में रहने वाले लोगों के ऊपर कष्ट नहीं आने देती हैं।

फेंगशुई कहता है कि घर में रखे अक्वेरियम के पास कुछ वक्‍त बिताने से मानसिक तनाव कम होता है। यानी अगर कोई व्‍यक्ति परेशान रहता है और तनाव की स्थिति से गुजर रहा है तो उसे कुछ समय अक्‍वेरियम के पास बैठना चाहिए और मछलियों की गतिविधि पर ध्यान देना चाहिए। इससे तनाव कम होता है और उत्साह एवं सकारात्मक ऊर्जा की अनुभूति होती है।

धन-संपदा में वृद्धि के लिए जब भी अक्वेरियम लगाएं तो दिशा का ध्‍यान जरूर रखें। इसे कभी भी दक्षिण दिशा में न लगाएं। इसे पूर्व, उत्तर या उत्तर-पूर्व की दिशा में ही रखें। साथ ही किसी कमरे के बीचों-बीच भी न रखें।

ज्योतिषशास्त्र और फेंगशुई के अनुसार मछलियों को आहार देने और पालने से ग्रहों की अनुकूलता बनी रहती है। इससे सुख-समृद्धि और धन की वृद्धि होती है। अक्वेरियम को सही दिशा में रखने से घर के लोगों की प्रगति होती है।

अक्वेरियम में जब भी मछलियों को डालें तो उनकी संख्‍या का भी ध्यान रखना चाहिए।  जैसे अक्वेरियम की दिशा महत्वपूर्ण है वैसे ही संख्या का भी महत्व है। इसलिए सदैव 9 की ही संख्‍या में मछली डालनी चाहिए। यह घर में शुभता लाती है। इसके अलावा आठ मछलियों के साथ एक काले रंग की मछली को रखना भी शुभ होता है।

Source : Agency