नई दिल्ली

लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर जोरदार हमले किए. प्रधानमंत्री ने लोकसभा में कांग्रेस नेताओं के स्पीच का जिक्र करते हुए कहा कि कुछ नेता कहते हैं कि वे कभी उनकी बराबरी नहीं कर पाएंगे. प्रधानमंत्री ने तंज कसते हुए कहा कि हम किसी की लकीर छोटी करने में वक्त बर्बाद नहीं करते हैं, बल्कि लंबी लकीर खींचने में अपना जीवन खफा देते हैं.

पीएम ने कहा, "आपकी ऊंचाई, आपको मुबारक हो, क्योंकि आप इतने ऊंचे चले गए कि आपको जमीन दिखाई देनी बंद हो गई है, आप इतने ऊंचे चले गए हैं कि आप जड़ों से उखड़ गए हैं, आप इतने ऊंचे चले गए हैं कि जो जमीन पर है वो आपको तुच्छ दिखता है, आपका और ऊंचा होना मेरे लिए अत्यंत संतोष का विषय रहा है."

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि उनकी कामना है कि वे और ऊंचे बने, ऊंचाई को लेकर हमारी आपके कोई स्पर्द्धा ही नहीं है. पीएम ने कहा कि हमारा सपना ऊंचा होने का है ही नहीं, हमारा सपना जड़ों से जुड़ने का है, हमारा सपना जड़ों की गहराई से जुड़ने का है. पीएम ने अपनी बातें विस्तार से रखते हुए कहा कि हमारा सपना ऊंचा होने का नहीं, जड़ों से जुड़ने का और देश को ताकत देने का है.

नरेंद्र मोदी ने कहा,  "इस प्रतियोगिता में हम हैं ही नहीं, इसलिए जिस स्पर्द्धा में हम हैं ही नहीं उसमें हम आपको सिर्फ शुभकामनाएं दे सकते हैं. इसलिए और उंचे, और उंचे और ऊंचे..."

'गंदी नाली' से तुलना

बता दें कि सोमवार को लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने पीएम नरेंद्र मोदी पर कथित रूप से विवादित टिप्पणी की थी. इंदिरा गांधी से पीएम नरेंद्र मोदी की तुलना पर अधीर रंजन चौधरी ने कहा था कि कहां मां गंगा, कहां गंदी नाली. अधीर रंजन चौधरी की इस टिप्पणी पर बीजेपी सांसद भड़क गए. बात में अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि उन्होंने पीएम के लिए गंदी नाली शब्द का इस्तेमाल नहीं किया था. उन्होंने कहा कि अगर पीएम नरेंद्र मोदी को उनके इस बयान से तकलीफ पहुंची है तो वे व्यक्तिगत रूप से इसके लिए माफी मांगते हैं. 

Source : Agency