जापान
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्र्रंप ने पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात से पहले ट्वीट करके कहा कि मैं प्रधानमंत्री मोदी के साथ बात करने के लिए उत्सुक हूं, भारत संयुक्त राज्य अमेरिका पर बहुत अधिक शुल्क (टैरिफ) लगा रहा है, अभी हाल ही में शुल्क में और वृद्धि की गई है। यह अस्वीकार्य है और शुल्क को वापस लेना चाहिए! आपको बता दें कि जापान में होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को यहां पहुंचे। इस सम्मेलन के दौरान वह महत्वपूर्ण बहुपक्षीय बैठकों में हिस्सा लेने के साथ ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप समेत दुनिया के प्रमुख नेताओं से भी मिलेंगे। 
 
जी-20 समिट की 10 खास बातें

1- प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, “अलसुबह ओसाका पहुंचे। आने वाले दिनों में जी-20 शिखर सम्मेलन, द्विपक्षीय और बहुपक्षीय वार्ताएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इंतजार कर रही हैं। वह वैश्विक महत्व के कई मुद्दों पर जोर देने के साथ ही भारत का नजरिया पेश करेंगे।”

2- ओसाका में 28-29 जून को हो रहे जी-20 शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छठी बार शिरकत करने पहुंचे हैं। 

3- विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर कहा, “जी-20 शिखर सम्मेलन में शामिल होने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ओसाका के कंसाई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचे। अगले तीन दिनों तक, वैश्विक मंच पर भारत के नजरिये को रखने के लिये प्रधानमंत्री कई द्विपक्षीय और बहुपक्षीय चर्चाओं का हिस्सा होंगे।”

4- जी 20 सम्मेलन में पीएम मोदी जलवायु परिवर्तन से लेकर आतंकवाद और प्रमुख वैश्विक चुनौतियों पर चर्चा कर सकते हैं। जापान के ओसाका में होने जा रहे जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी जिन देशों के साथ दस द्विपक्षीय वार्ता करेंगे वो हैं फ्रांस, जापान, इंडोनेशिया, अमेरिका और तुर्की। इसके साथ ही, ब्रिक्स यानि ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका और रिक यानि रूस-चीन-भारत के नेताओं के बीच बैठक होगी।

5-G-20 सम्मेलन के लिए रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा- मैं अन्य वैश्विक नेताओं के साथ हमारी दुनिया के सामने मौजूद प्रमुख चुनौतियों और अवसरों पर चर्चा करने के लिए उत्सुक हूं। महिला सशक्तीकरण, डिजिटलाइजेशन और जलवायु परिवर्तन जैसी प्रमुख वैश्विक चुनौतियों का समाधान हमारी इस बैठक का मुख्य मुद्दा होगा।

6- अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जापान में हो रहे G-20 बैठक के इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग समेत कई विश्वनेताओं से मुलाकात करेंगे। इस दौरान व्यापार समेत कई मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद है। G-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने ट्रंप 27 जून को रवाना होंगे। भारत में हाल में हुए आम चुनावों के बाद मोदी और ट्रंप के बीच यह पहली मुलाकात होगी। ट्रंप ने फिर से प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी को फोन पर बधाई दी थी।

7-रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और उनके अमेरिकी समकक्ष डोनाल्ड ट्रंप जापान में इस हफ्ते जी 20 शिखर सम्मेलन से इतर बैठक कर हथियारों के नियंत्रण और ईरान तथा सीरिया संकट पर चर्चा करेंगे। दोनों नेताओं की बैठक शुक्रवार को होगी।

8-हांगकांग में विवादित प्रत्यर्पण कानून के विरोध में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने अमेरिका, यूरोपीय संघ और अन्य देशों के नेताओं से अनुरोध किया है कि वे जापान में होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन के समय इस मुद्दे को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के समक्ष उठाएं। गौरतलब है कि चीन ऐसे किसी कदम का सख्त विरोधी है और उसने कहा है कि हांगकांग उसका आंतरिक मामला है। 
 
9- ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने बुधवार को आगाह किया कि चीन और अमेरिका के बीच व्यापार युद्ध से हो रहे 'पारस्परिक नुकसान' की चपेट में छोटे देश भी आ रहे हैं और यह वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिहाज से खतरनाक है। मॉरिसन ने वॉशिंगटन को आगाह किया कि 'दुनिया का सबसे महत्वपूर्ण द्विपक्षीय संबंध--अमेरिका-चीन संबंध' "तनावपूर्ण'' बन गया है।

10- ये देश हैं जी20 का हिस्सा: अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, यूरोपीय संघ, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मैक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, तुर्की, ब्रिटेन और अमेरिका जी-20 के सदस्य हैं.

Source : Agency