ढाका
बांग्लादेश की एक अदालत ने प्रधानमंत्री शेख हसीना पर 25 साल पहले हमला करने के एक मामले में बुधवार को बीएनपी के नेतृत्व वाले गठबंधन के 9 कार्यकर्ताओं को मृत्युदंड और 25 अन्य को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। शेख हसीना पर जब यह हमला हुआ था, उस समय वह विपक्ष की नेता थीं। 23 सितंबर 1994 को हसीना राष्ट्रव्यापी प्रचार का नेतृत्व कर रही थीं।

उस समय ट्रेन के पबना के इश्वार्दी पहुंचने पर उनके कोच पर हमला हुआ था। हसीना पर यह हमला प्रधानमंत्री के तौर पर बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) की अध्यक्ष खालिदा जिया के पहले कार्यकाल के दौरान हुआ था, जिसमें वह बच गई थीं। मीडिया में आई खबरों के अनुसार, ट्रेन पर हमला करने के मामले में पबना की अदालत ने 9 लोगों को मृत्युदंड और 25 लोगों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है।

Source : Agency