इंदौर
 15 जुलाई को इंदौर से पहली इंटरनेशनल फ्लाइट उड़ान भरेगी। इस लम्हे को यादगार बनाने के लिए खास कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इसके तहत पहली इंटरनेशनल फ्लाइट से दुबई जाने वाले यात्रियों का एयरपोर्ट पर रेड कारपेट बिछाकर स्वागत किया जाएगा। इतना ही नहीं सभी मुसाफिरों को मालवी पगड़ी भी पहनाई जाएगी। इतना ही नहीं ये फ्लाइट 17 जुलाई को दुबई से देर रात साढ़े 12 बजे वापस आएगी। पहली बार इस फ्लाइट के जरिए जो लोग दुबई से शहर आ रहे हैं। उनका भी गर्मजोशी से स्वागत किया जाएगा। इंदौर सांसद शंकर लालवानी ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि लंबे वक्त से इंदौर में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की मांग उठ रही थी। काफी जद्दोजहद के बाद लोगों की ये मुराद अब पूरी होने जा रही है। इसलिए इस मौके को खास बनाने के लिए 15 जुलाई को एक कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। इस कार्यक्रम में एयर इंडिया के सीएमडी अश्विनी लोहानी भी शामिल होंगे। इस कार्यक्रम के दौरान एक प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी। जिसमें हवाई यात्रा का इतिहास बताया जाएगा।

इस मौके पर सांसद शंकर लालवानी ने बताया कि, इंटरनेशनल एयरपोर्ट के बाद अब हवाई अड्डे के विस्तार का काम तेजी से शुरू होगा। जिसकी सैद्धांतिक मंजूरी भी मिल चुकी है। जल्द ही यहां एक नया 475 करोड़ की लागत से नई टर्मिनल बिल्डिंग बनाई जाएगी। जिसकी यात्री क्षमता 65 लाख होगी। इस टर्मिनल को घरेलू उड़ानों के लिए इस्तेमाल करने की योजना है। ऐसी सूरत में मौजूदा टर्मिनल से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें संचालित होंगी। इसके लिए एयर स्ट्रिप की लंबाई बढ़ानी होगी। जिस पर जल्द काम शुरू होगा। इसके लिए पहले से ही मध्य प्रदेश सरकार ने बीस एकड़ जमीन आवंटित कर रखी है। लेकिन कुछ प्रशासनिक अड़चनों की वजह से काम में बाधा आ रही थी। लेकिन अब इस पर तेजी से काम शुरू होगा।

नई टर्मिनल बिल्डिंग ग्रीन बिल्डिंग के कॉन्सेप्ट पर बनाई जाएगी। इसमें मल्टी लेवल पार्किंग बनाई जाएगी। जिसका काम भी शुरू हो चुका है। बता दें कि इस साल इंदौर एयरपोर्ट से 32 लाख यात्रियों ने सफर किया था। जो पिछले साल के मुकाबले बीस फीसदी ज्यादा है। ऐसे में नए टर्मिनल के बन जाने के बाद हवाई सफर करने वालों को बड़ी राहत मिलेगी।

Source : Agency