इंदौर
इंदौर में नगर निगम कर्मचारी की बल्ले से पिटाई करने वाले बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय को पीएम मोदी की नाराजगी के बाद 'कारण बताओ' नोटिस जारी किया गया. इस नोटिस के बारे में आकाश के पिता और बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने इस पर अनभिज्ञता जताई. उन्होंने कहा कि 'मुझे तो अभी जानकारी नहीं है. मैं दिल्ली से आ रहा हूं, पर मैंने समाचार पत्रों में पढ़ा है कि हां उसे कुछ दिया गया है.'

कैलाश विजयवर्गीय ने इस सवाल के जवाब में कि क्या आपने उन्हें (आकाश विजयवर्गीय) को फटकार लगाई है, पर विजयवर्गीय ने कहा, 'पिता की हैसियत से जिस प्रकार मुझे समझाना था, डांटना था, समझा चुका हूं और इस पर सार्वजनिक रुप से टिप्पणी करने की कोई आवश्यकता नहीं है.'

बता दें कि आकाश के बल्ला कांड का बाद दो जुलाई को हुई भाजपा के संसदीय दल की बैठक में पीए मोदी ने पार्टी नेताओं को कड़े शब्दों में नसीहत दी थी. प्रधानमंत्री ने इस बैठक में सख्त लहजे में कहा कि बेटा किसी का भी हो, पार्टी में मनमानी नहीं चलेगी. इस बैठक में कैलाश विजयवर्गीय भी मौजूद थे.

वहीं जब मीडिया ने कैलाश विजयवर्गीय से जब पूछा कि प्रधानमंत्री मोदी के बयान के बाद कई दिनों से आकाश गायब हैं, किसी से मिल नहीं रहे हैं, क्या वह आत्ममंथन कर रहे हैं, तो उन्होंने कहा, 'यह तो आप उनसे (आकाश) पूछिएगा. विधानसभा चालू होगी तो आएंगे, तब पूछ लेना.

दरअसल बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय ने बीते 26 जून को मकान ढहाने के विरोध में नगर निगम के अफसर धीरेन्द्र बायस की सरेआम बैट से पिटाई की थी. हाालंकि आकाश को इस घटना में कोई अफसोस नहीं है उन्होंने मीडिया से कहा कि मैंने कुछ भी गलत नहीं किया.

Source : Agency