ग्वालियर
शिवपुरी लिंक रोड पर शनिवार दोपहर हुए लूट और हत्या कांड के आरोपी अभी पुलिस पकड़ से दूर हैं। हालांकि पुलिस अधीक्षक ने भरोसा जताया है कि आरोपी जल्दी ही गिरफ्तार होंगे। उधर प्रभारी पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौर ने आज शहर में संचालित कलेक्शन एजेंसियों और सिक्योरिटी एजेंसियों के संचालकों की बैठक बुलाई।

इस बैठक में खासकर बैंक के कलेक्शन वाहनों को किस तरह पूरी तरह सुरक्षित होना चाहिए इसके बारे में एसपी ने सुरक्षा एजेंसियों को टिप्स दिए और उन्हें हर हालत में सुरक्षा मानकों के पालन करने के निर्देश दिए। इसके अलावा बैंक के कैश वैन में तैनात सुरक्षा गार्डों के बारे में भी निर्देश जारी किए हैं । सुरक्षा एजेंसियों को बताया गया कि सिक्योरिटी गार्ड पूरी तरह ट्रेंड होना चाहिए।

क्योंकि जिस तरह एचडीएफसी बैंक के सुरक्षा गार्ड की हत्या कर उसकी बंदूक लूटी गई है, उससे  साफ़ पता चलता है कि सुरक्षा गार्ड गाड़ी के भीतर बैठा हुआ था जबकि कलेक्शन एजेंट कैश लेकर अकेला ही आ रहा था तभी तीन बाइक सवार बदमाशों में आते ही कैश वैन के ड्राइवर और सुरक्षा गार्ड पर गोलियां चला दी। लेकिन कलेक्शन एजेंट रितेश पचौरी भाग निकला प्रभारी एसपी अमन सिंह राठौर ने बताया कि सुरक्षा एजेंसियों को रजिस्टर्ड होना चाहिए और उनके गार्ड भी ट्रेंड होने चाहिए। लेकिन कई एजेंसियां बिना अनुभव और गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशा निर्देशों के विपरीत संचालित की जा रही है । सभी एजेंसियों को धारा 144 के तहत नोटिस दिए जा रहे हैं और उन पर कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी। वहीं सुरक्षा एजेंसियों ने पुलिस की पहल को सही बताया है और भविष्य में सुरक्षा के पूरे मापदंड पूरा करने के का भरोसा दिलाया है।

Source : Agency