नई दिल्ली 

मैनचेस्टर में न्यूजीलैंड और भारत के बीच खेले जा रहे आईसीसी विश्व कप-2019 के पहले सेमीफाइनल मैच में बारिश के खलल के कारण मंगलवार को पूरा न हो सका. अब यह मैच रिजर्व डे में यानी बुधवार को पूरा होगा. यह मैच वहीं से शुरू होगा जहां मंगलवार को रुका था. हालांकि, यह स्थिति भारत के लिए अनुकूल माना जा रहा है.

अब बुधवार को न्यूजीलैंड बाकी के बचे 3.5 ओवर खेलेगा, जिसके बाद भारत को भी पूरे 50 ओवर खेलने का मौका मिलेगा. यह पहली बार नहीं है जब वर्ल्ड कप का कोई मुकाबला रिजर्व डे तक पहुंचा हो. इससे पहले भी भारत ऐसी स्थिति का सामना कर चुका है.

भारतीय प्रशंसकों के लिए अच्छी खबर है कि 1999 वर्ल्ड कप में खेले गए उस मुकाबले में भारत ने इंग्लैंड को मात दी थी. हालांकि, वो सेमीफाइनल का मुकाबला न होकर लीग स्टेज का मैच था.

1999 में रिजर्व डे पर भारत को मिली थी जीत

बर्मिंघम के एजबेस्टन में खेले गए उस मैच में टॉस जीतकर इंग्लैंड की टीम ने पहले फील्डिंग का फैसला किया था. जिसके बाद टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में 8 विकेट खोकर 232 रन बनाए थे. इस मैच में भारत की तरफ से राहुल द्रविड़ ने 53 रन और सौरव गांगुली ने 40 रन बनाए थे.

भारत के 232 रनों के टारगेट का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम 20.3 ओवर में 3 विकेट खोकर 73 रन बना लिए थे. तभी आंधी-तूफान ने मैच में बाधा डाला और मैच को रिजर्व डे में चला गया. जिस समय आंधी के कारण मैच रुका उस समय इंग्लैंड की टीम को जीत के लिए 180 गेंद में 160 रनों की जरूरत थी.

अगले दिन इंग्लैंड की आगे की पारी शुरू हुई, लेकिन 45.2 ओवर में इंग्लैंड की पूरी टीम 169 रन पर ऑल आउट हो गई और भारत ने 63 रनों से मैच अपने नाम कर लिया. इस मैच में सौरव गांगुली को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया था, क्योंकि उन्होंने गेंद और बल्ले, दोनों से दम दिखाया था. गांगुली ने इस मैच में 40 रन बनाए थे और गेंदबाजी में 8 ओवरों में 27 रन देकर 3 विकेट लिए थे.

अन्य टीमें भी खेल चुकी हैं रिजर्व डे पर मैच

भारत-इंग्लैंड के अलावा आईसीसी वर्ल्ड कप में कई मुकाबले रिजर्व डे तक पहुंचे हैं. 1996 वर्ल्ड कप में जिम्बाब्वे और केन्या के बीच 25 फरवरी को पटना में खेला गया मुकाबला 15.5 ओवरों के बाद रोक दिया गया. इसके बाद यह मुकाबला नए सिरे से 27 फरवरी को खेला गया.

वहीं, 1999 वर्ल्ड कप में न्यूजीलैंड और जिम्बाब्वे के बीच लीड्स में खेला गया मैच रिजर्व डे तक पहुंचा. दिलचस्प यह है कि बारिश के कारण दूसरे दिन भी कोई नतीजा नहीं निकल पाया.

Source : Agency