रनिंग को फिट रहने का बहुत अच्छा माध्यम माना जाता है, लेकिन इसके लिए व्यक्ति का स्टैमिना बहुत अच्छा होना चाहिए। वहीं जिन्हें हड्डियों या पैर से जुड़ी कोई अन्य परेशानी होती है उन्हें दौड़ने में काफी परेशानी होती है, ऐसे में उनके लिए कार्डियो का यह तरीका मुश्किल भरा हो जाता है। इस मुश्किल से बचने के लिए कार्डियो के दूसरे तरीकों को अपनाया जा सकता है जो रनिंग जितने ही असरदार होते हैं।

रस्सी कूदना
रस्सी कूदना कार्डियो का बढ़िया तरीका है। यह न सिर्फ आपके दिल की सेहत को बनाए रखेगा बल्कि शरीर में खून के प्रवाह को भी सुधारेगा। इसके साथ ही इस तरीके से पैरों को मजबूती मिलेगी और बैलेंस सुधरेगा।

डांसिंग
घर पहुंचिए और पसंद का डांस म्यूजिक ऑन कर दीजिए। अब जमकर डांस करिए। डांसिंग से व्यक्ति को स्टैमिना बढ़ाने, ब्लड सर्कुलेशन सुधारने, मसल्स को मजबूत बनाने और लंग्स मजबूत करने में मदद मिलती है।


साइकलिंग
साइकलिंग की सबसे खास बात यह है कि इसके लिए किसी खास तरह की तैयारी जरूरत नहीं होती। कार्डियो के इस तरीके से लंग्स को मजबूती मिलती है और शरीर में ज्यादा ऑक्सिजन जाती है। इसके साथ ही पैरों की मसल्स स्ट्रॉन्ग बनती हैं जिससे उम्र के साथ पैरों में होने वाली कमजोरी की शिकायत दूर रहती है।

इनडोर साइकलिंग
घर के बाहर साइकलिंग पर नहीं जाना चाहते तो कोई बात नहीं। इनडोर साइकिल खरीदें और इनडोर ही साइकलिंग के सभी फायदे लें।

बॉक्सिंग या किक बॉक्सिंग
स्टैमिना बढ़ाने के साथ ही डिफेंस का मेथड सीखना है तो बॉक्सिंग व किक बॉक्सिंग बेस्ट ऑप्शन है। ये तरीके आपके बॉडी फैट को बर्न करने के साथ ही शरीर को कार्डियो की दूसरी एक्सर्साइज वाले सभी फायदे पहुंचाएंगे।

सीढ़ियां चढ़ना-उतरना
घर में अगर सीढ़ियां है और अगर आप रोज इन्हें 15 से 20 मिनट चढ़ें या उतरें तो आपका शानदार वर्कआउट हो जाएगा।

Source : Agency