उम्र बढ़ने के साथ ही शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं, इसका असर चेहरे पर भी दिखाई देता है। 30 की उम्र में रिंकल्स बनना शुरू हो जाते हैं लेकिन अगर सही तरीके से त्वचा का ख्याल रखा जाए तो इसे बढ़ती उम्र के चेहरे पर पड़ने वाले असर को मात दी जा सकती है।

सीटीएम
यूं तो सीटीएम मेथड यानी क्लेन्जिंग, टोनिंग और मॉइस्चराइजिंग हर उम्र में फॉलो करना चाहिए लेकिन 30 की उम्र पार करने के बाद इसकी अहमियत और बढ़ जाती है। इस मेथड से स्किन पर किसी भी तरह की गंदगी इकट्ठा नहीं होगी, जिससे त्वचा को इनसे होने वाले नुकसान से बचाया जा सकेगा। साथ ही इस तरीके को फॉलो कर स्किन की चमक भी बरकरार रहेगी।

हाइड्रेशन का रखें ध्यान
डायट से लेकर क्रीम में हाइड्रेशन तत्व का ध्यान रखें। पर्याप्त पानी पिएं और सब्जियों व फलों का सेवन करें। इससे शरीर के टॉक्सिन्स को बाहर निकालने में मदद मिलेगी। क्रीम ऐसी चुनें जिसमें हाइड्रेशन लेवल ज्यादा हो। 35 की उम्र तक स्किन ड्राई होने लगती है जिससे झुर्रियां होने लगती हैं, इस स्थिति से बचने के लिए सही क्रीम का चुनाव बहुत महत्वपूर्ण है।


फेस मास्क
एक्सट्रा हाइड्रेशन के लिए फेस मास्क का सहारा लें। बाजार में आजकल आसानी से हाइड्रेशन मास्क मिल जाते हैं जिनमें स्किन को पोषण पहुंचाने वाले तत्वों के साथ ही उसे ग्लोइंग व सॉफ्ट बनाने वाले गुण भी मौजूद होते हैं। अगर आप इन मास्क का इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं तो दही, शहद, स्किन ऑइल लगाने जैसे ऑप्शन्स का सहारा भी ले सकते हैं।

व्यायाम
व्यायाम को जीवन का हिस्सा बनाएं। यह न सिर्फ आपको फिट रखने के लिए जरूरी है बल्कि इससे शरीर में जमा होने वाले फैट को बर्न करने व टॉक्सिन्स को फ्लश आउट करने में भी मदद मिलती है। इससे स्किन पर काले धब्बे नहीं बनते और स्किन का ग्लो भी बढ़ता है।

सनस्क्रीन का इस्तेमाल
सनस्क्रीन का इस्तेमाल जरूर करें। सूरज की किरणों से होने वाले नुकसान से बचने के लिए इसका सहारा लेना जरूरी है। अगर आप फाउंडेशन लगाती हैं तो उसमें भी एसपीएफ क्वॉलिटी हो यह सुनिश्चित करें।

Source : Agency