लंदन

दो पूर्व वर्ल्ड नंबर-1 टेनिस खिलाड़ियों अमेरिका की सेरेना विलियम्स और रोमानिया की सिमोना हालेप के बीच साल के तीसरे ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट विंबलडन का महिला एकल वर्ग का फाइनल खेला जाएगा. यह खिताबी भिड़ंत शनिवर को होगी. सेरेना ने सेमीफाइनल में चेक गणराज्य की बारबोरा स्ट्रायकोवा को मात दी तो वहीं हालेप ने यूक्रेन की इलिना स्वितोलिना को हराया.

सेरेना ने स्ट्रायकोवा को 6-1, 6-2 से मात दी. सेरेना को 11वीं बार विंबलडन फाइनल में पहुंचने के लिए 59 मिनट का समय लगा. इसके साथ ही सेरेना के लिए 8वां विंबलडन सिंगल्स खिताब जीतने का मौका है. साथ ही वह ऑल टाइम सर्वाधिक ग्रैंड स्लैम जीतने के मामले में ऑस्ट्रेलिया की मार्ग्रेट कोर्ट की बराबरी कर लेंगी, जिनके नाम 24 खिताब हैं.

मैच के बाद सेरेना ने कहा, 'मैं जो करती हूं उससे मुझे प्यार है. मैं हर सुबह उठती हूं और फिट रहने की कोशिश करती हूं. फाइनल में पहुंचने का अहसास अच्छा है. दोबारा फाइनल में आकर अच्छा लगा. यह निश्चित तौर पर काफी बेहतर है. मुझे कुछ मैच चाहिए थे. मैं जानती थी कि मुझे सुधार करने की जरूरत है. मुझे अच्छा महसूस करना होगा और फिर मैं फिर वही करूंगी जो मैं अच्छा करती हूं, टेनिस खेलना.'

हालेप के साथ होने वाले फाइनल पर उन्होंने कहा, 'हम दोनों के मैच हमेशा कड़े हुए हैं. मेरे लिए यह कड़ा मुकाबला था और मैं फाइनल के लिए तैयार हूं.'

हालेप पहली बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची हैं. उनके नाम एक ग्रैंड स्लैम है जो उन्होंने पिछले साल फ्रेंच ओपन के रूप में जीता था.

वहीं स्वितोलिना का पहली बार विंबलडन फाइनल खेलने का सपना अधूरा रह गया. हालेप ने उन्हें 6-1, 6-3 से हराया. यह मैच एक घंटे 13 मिनट तक चला. स्वितोलिना पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम के सेमीफाइनल में पहुंची थीं.

Source : Agency