रायपुर

प्रदेश सरकार की अल्पकालीन कृषि ऋण माफी योजना उन किसानों के लिए किसी संजीवनी से कम नहीं है, जिनका गुजर-बसर कृषि कार्य से ही चलता हो। राज्य सरकार के इस क्रांतिकारी निर्णय से किसानों के माली हालत में सुधार हुआ है। किसान हितैषी सरकार का फायदा बेमेतरा जिले के ग्राम कंतेली निवासी संतोष वर्मा, दयासिंह वर्मा एवं भूपेन्द्र पाण्डेय को भी मिला है।

संतोष वल्द स्वर्गीय नारायण वर्मा का 8 लाख 15 हजार रूपये, दयासिंह का 6 लाख 93 हजार एवं भूपेन्द्र पाण्डेय का एक लाख 49 हजार रूपये कृषि ऋण माफ हुआ है। संतोष, जयप्रकाश एवं भूपेन्द्र ने सरकार के इस ऐतिहासिक फैसले के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के प्रति सहृदय से धन्यवाद देते हुए कहा है कि किसान पुत्र भूपेश सरकार द्व़ारा किसानों की पीड़ा को महसूस करते हुए अल्पकालीन कृषि ऋण माफ करने का जो निर्णय लिया है, इससे प्रदेश के लाखों किसानो को लाभ मिला है।

ग्राम कंतेली निवासी तीनों किसानों ने खेती किसानी के लिए सेवा सहकारी समिति डूंड़ा पंजीयन क्रमांक 669 से ऋण लिया था, जिसका उपयोग रसायनिक खाद की खरीदी, सोयाबीन बीज खरीदी के लिए किया गया। संतोष वर्मा ने बताया कि चार भाईयों का शामिल खाता है। कृषि ऋण माफ होने से उनके भाई महेश वर्मा के पुत्र सुरज का इस साल गर्मी में विवाह भी संपन्न कराया गया। यदि ऋण माफ नहीं होता तो इस साल विवाह टल जाता। ऋण माफ होने का फायदा यह मिला कि उन्होंने अपने खेत में तीन नग ट्यूबवेल (बोर) खनन करवाया है।

गांव के दुसरे किसान दयासिंह वर्मा ने भी उर्वरक खरीदी एवं खेती किसानी के कार्य के लिए अल्पकालीन ऋण लिया था, दयासिंह ने प्रसन्नता जाहिर करते हुए बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा अल्पकालीन ऋण माफ होने से उन्होंने इस वर्ष गर्मी के सीजन में दो ट्यूबवेल (बोर) खनन करवाया हैं। वहीं भूपेन्द्र पाण्डेय ने बताया कि उनके द्वारा कृषि कार्य के लिए लिए गए अल्पकालीन ऋण भी माफ कर दिया गया है।

Source : Agency