रायपुर। नये बने तेलंगाना राज्य छत्तीसगढ़ से 2017-18 से बिजली खरीद रही है।  मई 2019 तक तेलंगाना ने 10,904.57 यूनिट बिजली राज्य सरकार से खरीद चुकी है और उन्होंने 2,602.02 करोड़ रुपये का भुगतान अभी तक किया है। बचे शेष राशि का भुगतान अभी तक नहीं हुआ है जिसके लिए राज्य सरकार वसूली का प्रयास कर रहा है। उक्त बातें कांग्रेस के लोरमी विधायक धर्मजीत सिंह के सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दिए।
उन्होंने बताया कि तेलंगाना राज्य को बिजली आपूर्ति हेतु छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लि. तथा सदर्न पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी आॅफ तेलंगाना लि. एवं नार्दन पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी आॅफ तेलंगाना लि. के मध्य दीर्घकालीन पॉवर पर्चेस एग्रीमेंट 22.09.2015 को निष्पादित किया किया। बिजली का क्रय-विक्रय मेगावाट में नहीं है, बिजली की यूनिट्स में होता है। एग्रीमेंट के शर्तों के अधीन वित्तीय वर्ष 2017-18 को 5,421.16 यूनिट बेची गई जिसमें 1,387.29 करोड़ का भुगतान किया गया, 2018-19 में 5,329.05 में से 1,046.97 तथा 2019-20 में (माह मई 2019 तक) 154.36 में से 167.76 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया।
उन्होंने बताया कि उक्त दोनों डिस्ट्रीब्यूशन कंपनियों से बिजली बिल की संपूर्ण राशि का भुगतान अप्राप्त है। बिजली बिलों की बकाया राशि की वसूली हेतु नियमित रुप से स्मरण पत्र के साथ-साथ व्यक्तिगत प्रयास किए गए है। उक्त दोनों डिस्ट्रीब्यूशन कंपनियों के साथ निष्पादित पॉवर पर्चेस एग्रीमेंट की शर्तों के अधीन छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के पक्ष में लेटर आॅफ क्रेडिट की सीमा में राशि की वसूली की कार्रवाई के प्रयास है।

Source : Agency