रायपुर
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोनभद्र नरसंहार मामले में यूपी सरकार के रवैये को लेकर कड़ी नाराजगी जाहिर की है। पीडितों से मिलने के लिए जा रहे जनप्रतिनिधियों को रोका जाना यह दशार्ता है कि कहीं न कहीं दाल में कुछ काला है। बघेल आज यूपी जाने वाले थे लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के धरना समाप्त हो जाने से उनका दौरा स्थगित हो गया है।

श्री बघेल ने कहा है कि घटना को चार दिन बीत चुके हैं, लेकिन अब तक लॉ एंड आर्डर के नाम पर राजनीतिक दलों को जाने से रोका जाना बताता है कि जरूर कुछ गड़बड है. आखिर सरकार छिपाना क्या चाहती है?  बघेल ने उदाहरण देते हुए कहा कि भाजपा विधायक भीमा मंडावी समेत पांच जवानों की हत्या नक्सलियों ने कर दी थी, लेकिन हमने दंतेवाड़ां जाने से किसी को नहीं रोका. बल्कि सुरक्षा भी मुहैया कराई. भाजपा के लोग भी गए. मैं खुद भी गया, लेकिन सोनभद्र में क्यों रोका जा रहा है?

उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के उस बयान पर भी भूपेश बघेल ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है, जिसमें उन्होंने घटना के लिए कांग्रेस को ही जिम्मेदार बताया था. बघेल ने कहा कि आज देश में हर घटना के लिए कांग्रेस जिम्मेदार है. यदि ये लोग गद्दी नहीं संभाल पा रहे हैं, कुछ कर नहीं पा रहे हैं, तो ऐसे में पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है. इन्हें पद पर नहीं बने रहना चाहिए.

Source : Agency